पंचायत प्रतिनिधियों के धरना में शामिल हुए मोरबा विधायक रणविजय साहू व पूर्व विधायक विद्या सागर निषाद

0

संजय भारती , समस्तीपुर।

समस्तीपुर जिला के ताजपुर प्रखण्ड मुख्यालय पर पंचायत प्रतिनिधियों के धरना के दूसरे दिन मोरबा विधायक रणविजय साहू का शरणार्थी का साथ मिला ।

विधायक भी उनके साथ धरना पर बैठे रहे । धरनार्थियों ने पंचायत प्रतिनिधियों का अपमान बंद कर सकारात्मक व्यवहार करने, पंचायत समिति मद में प्राप्त राशि से अविलंब योजनाओं का कार्यान्वयन शुरू करने, पंचायत समिति के लिए सहायक एवं आदेश पाल को प्रतिनियुक्त करने, प्रखण्ड द्वारा सरकारी योजनाओं में पंचायत समिति सदस्यों की सहभागिता सुनिश्चित करने आदि मांगों को लेकर बुधवार को पंचायत समिति सदस्य, मुखिया समेत अन्य पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा अनिश्चितकालीन धरना प्रखण्ड प्रमुख पूनम देवी के नेतृत्व में शुरू किया गया । धरना में उप प्रमुख गरिमा सुमन, पंसस शबनम खातुन, गीता देवी, रेखा देवी, पवन कुमार यादव, गंगा प्रसाद साह, प्रवीण कुमार, सोनू कुमार, मो० सुहैल, पप्पू कुमार, कुमार गौरव, गणेश कुमार ठाकुर, मो० खलीलूर रहमान, मुखिया राजमणि देवी, रौशन आरा जाफरी, मुखीलाल सिंह, मनोज कुमार, ब्रजनंदन राम, धर्मेंद्र कुमार चौरसिया आदि उपस्थित थे ।
मौके पर भाकपा माले प्रखण्ड सचिव सुरेंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में सभा का आयोजन किया गया । सभा को राजद के प्रखण्ड अध्यक्ष नवीन कुमार, कांग्रेस के प्रखण्ड अध्यक्ष अब्दुल मालिक, भाकपा माले के ब्रहमदेव प्रसाद सिंह, जदयू के अनावर हुसैन, गिलमान अहमद, अजहर मकरानी,पूर्व प्रमुख नवीन कुमार, आदि ने सभा को संबोधित किया ।
धरना को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक सह जदयू नेता विद्यासागर निषाद ने कहा कि जनप्रतिनिधियों एवं आम जनता से बीडीओ के बारे में विभिन्न तरह का शिकायत मिला है । ऐसे धमंडी बीडीओ के लिए ताजपुर में कोई जगह नहीं रहेगा । उन्होंने कहा कि बीडीओ का काम विकास योजनाओं को गति देने का काम है लेकिन यहाँ सरकार के योजनाओं को बीडीओ द्वारा लटका कर रखा जाता है. ऐसे बीडीओ को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा ।
सभा को संबोधित करते हुए मोरबा के राजद विधायक रणविजय साहू ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर की धरती के पंचायत समिति सदस्य, मुखिया को बीडीओ के खिलाफ धरना देना पड़ता है । यह आश्चर्यजनक है । उन्होंने कहा यहाँ का बीडीओ तानाशाह है और ताजपुर की धरती तानाशाही के विरूद्ध लड़ती रही है । उन्होंने कहा कि ताजपुर प्रखण्ड बीमार है । संघर्ष के जरीये इसे स्वस्थ करना है । उन्होंने कहा कि बीडीओ – सीओ जनता का सेवक है और एक सेवक को जनता का सेवा करना होता है लेकिन यहाँ सेवा करने के बजाय अपमानित किया जाता है । यह अन्याय है , इसी जून में यहाँ से बीडीओ – सीओ को हटाने की मांग को लेकर पंचायती राज पदाधिकारी से पटना में जनप्रतिनिधि का डेलीगेट मिलने की घोषणा की ।
माले, कांग्रेस, जदयू, राजद आदि दलों के वक्ताओं ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 15 जून को वर्क स्टाप लगता है. चुनाव हुए तकरीबन 9 महीना हो गया । एक भी विकास योजना का फाईल भी नहीं खोला गया. प्रखण्ड में व्याप्त योजनाओं में लूट- भ्रष्टाचार का बोलबाला है. वर्षा में करीब 4-5 महीने पानी में प्रखण्ड कार्यालय डूबा रहता है लेकिन बंद पड़ा आहर, पुल, पुलिया, नाला खोलने की कोशिश भी शुरू नहीं हो रहा है । प्रखण्ड में अराजकता का माहौल है । जनहित का कार्य बाधित हो रहा है , धरना दूसरे दिन भी जारी है ।

Leave a Reply