बिहार किसान मंच के पदाधिकारियों को किया गया सम्मानित, जानिए वज़ह..

0

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।
जिले के हजारों किसान जल जमाव से की समस्या से परेशान थे, समय पर खेती नहीं कर पा रहे थे, 70 वर्षों से भी ज्यादा समय से बागमती नदी के ईटबा स्लुईस के आगे पीछे मिट्टी जमा होने से जल निकासी का मार्ग अवरुद्ध हो गया था, कोई जन प्रति इस पर ध्यान नहीं दे रहे थे चार प्रखंडों के किसान वर्षों से जल जमाव की समस्या से काफी परेशान थे। रबी फसल को लगाने के लिए किसान जल निकासी का इंतजार करते थे। ऐसे निचली खेत मे ज्यादा दिनों तक पानी जमा रह जाता था और खेती देर से बाग होता था। जिस वजह उपज काफी कम होता था।


अब इस दिशा में सार्थक काम हुआ है।
बिहार किसान मंच के प्रदेश अध्यक्ष धीरेंद्र सिंह टुडू के पहल पर जिला प्रशासन ने संज्ञान लेते हुए सरकारी जमीन को अवैध कब्जा, सहित पूर्व से निर्गत भू जमा बंदी पर्चा को रद्द करते हुए पूर्व वर्ति बंद पड़े नहर जल निकासी स्रोत का उराही कर नया नहर का निर्माण किया गया है
आज बिहार किसान मंच के पदाधिकारीयों की एक टीम ने किसान नेता धीरेंद्र सिंह टुडू के नेतृत्व् मे ईटबा स्लुईस के आगे पीछे बने नहर का भौतिक जांच कर रहे थे
किसान नेता ने बताया कि यह उपलब्धि किसानों के एक जुटता के कारण जिला अधिकारी खगड़िया आलोक रंजन घोष के किसानों के प्रति सहानुभूति के कारण हुआ है पूर्व के कई विधायको ने अपने चहेते को गैर सम्वैधानिक तरीके से सरकारी जमीन का जमाबंदी पर्चा कायम करा दिया था
किसान नेता श्री टुडू ने बताया कि इस नहर के निर्माण से मानसी, खगड़िया, अलौली, बेगूसराय जिले के बखरी प्रखंड के हजारों किसानों को लाभ मिलेगा
किसान नेता को नवनिर्मित नहर निरीक्षण के क्रम में स्थानीय किसानों, जल संसाधन विभाग के अभियंताओं , तटबंध निर्माण कर रहे कंपनी के अधिकारियों ने माला पहनाते हुए फूल बुके देते हुए स्वागत किया
नहर निरीक्षण करने वाले बिहार किसान मंच के पदाधिकारी सूर्य नारायण वर्मा, अनिल कुमार यादव, बिट्टु कुमार, नागेश्वर चौरसिया, राजेश निराला, चंदन कुमार, शशि प्रसाद यादव, बीरेंद्र यादव, अजीत यादव, अशोक कुमार यादव, पंकज यादव, आदि शामिल थे।

Leave a Reply