Download App

समस्तीपुर में मनरेगा भ्रष्टाचार का बन गया है अभिप्राय : सुभाषचंद्र यादव

संजय भारती , समस्तीपुर।

हसनपुर विधानसभा के वरिष्ठ भाजपा नेता सह हसनपुर प्रखण्ड के पूर्व प्रखण्ड प्रमुख सुभाषचंद्र यादव मनरेगा योजना को लेकर कहते हैं कि सरकार के द्वारा जारी महात्मा गाँधी रोजगार गारंटी योजना समस्तीपुर में भ्रष्टाचार का अभिप्राय बन गया है ।

उन्होंने बताया कि अभियंता , रोजगार सेवक , जनप्रतिनिधि एवं लाभार्थियों की मिलीभगत से लोक कल्याणकारी योजना अपने परिकल्पना पर आंशु बहा रहा हैं । रोजगार  सृजन के नाम पर चल रहे इस योजना में यंत्रों का प्रयोग करना आम बात हो गयी हैं । अब काम यंत्र कर रहा है तो स्वभाविक है कि भुगतान तो यंत्र के स्वामी को ही होगा । लेकिन भुगतान मजदूरी का मास्टर रोल बना कर मजदूरों के खाते में जमा होता है । फिर मजदूरों को कमिशन देकर पूरी राशि वापस ले लिया जाता हैं । यह मामला प्राय: सभी प्रखंड में होता है । और तो और कही कही जनप्रतिनिधि अपने नाम सीएसपी खोल रखा है जिसमे मनरेगा की राशि का ही उठाव होता है । ऐसा नहीं कि यह मामला उच्चाधिकारी नहीं जानतें पर हर कोई इस भ्रष्टाचार की गंगोत्री में गोता लगाते हैं । अभियंता द्वारा रचित इस भ्रष्टाचार की यज्ञ में ईमानदारी से सब प्रसाद ग्रहण करते हैं । हद तो तब हो रहा जब मुख्यमंत्री के आदेश से जिला स्तर के पदाधिकारियों द्वारा प्राय: सभी पंचायतों के योजनाओं की जाँच होती रही है और योजनाओं को क्लीन चिट मिलता रहा है । वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाषचंद्र यादव ने कहा कि अगर भ्रष्टाचार के सभी मामले सही लग रहे हैं तो क्यों नहीं भ्रष्टाचार को शिष्टाचार में बदल दिया जाता है । भ्रष्टाचार अगर शिष्टाचार बन जायेगा तो इतना तो तय हो जायेगा कि निगरानी विभाग ,भ्रष्टाचार विरोधक दस्ता , निगरानी समिति एवं पदाधिकारियों का भाग दौड़ एवं उस पर हो रहे खर्च बन्द हो जाएगा । लेकिन ये क्या हो रहा है? माननीय मुख्यमंत्री जी एक ओर भ्रष्टाचार को रोकने के लिए निगरानी पर खर्च कर रहे हैं तो दूसरी ओर बिहार सरकार के मुलाजिम भ्रष्टाचार को शिष्टाचार में बदलने पर हैं । सुभाषचंद्र यादव ने कहा गरीबों के रोजगार का यह योजना , आखिर क्यों  दोहरी मार झेल रहा है? मुख्यमंत्री जी सरकार के आप मुखिया हैं फलतः मनरेगा योजना को निष्पक्ष जांच कराबें और दोषियों पर कारर्वाई करते हुए मजदूरों का वाजिब हक दिलावें ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: