Download App

RJD के राज्य कार्यालय में मंत्रियों के द्वारा सुनवाई कार्यक्रम में जन समस्याओं का किया गया निदान..

पटना, बिहार दूत न्यूज।

बिहार प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल के राज्य कार्यालय चल रहे “सुनवाई” कार्यक्रम में आज उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ तथा विधि मंत्री डॉ मो शमीम अहमद के द्वारा जनहित तथा जनसरोकार के मुद्दे पर पार्टी नेताओं तथा कार्यकर्ताओं और आमजनों से प्राप्त लिखित जनसमस्याओं का तत्काल समाधान तथा कार्रवाई के लिए टेलीफोन तथा लिखित में संबंधित विभाग तथा विभिन्न जिला के पदाधिकारियों को निर्देशित किया।


इस अवसर पर उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार तथा उपमुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव के नेतृत्व में महागठबंधन सरकार युवाओं के स्वरोजगार तथा छोटे उद्योग की स्थापना के लिए मुख्यमंत्री उद्यमी योजना तथा स्टार्टअप योजना में आवेदन करने की अंतिम तिथि दिसंबर तक है इसके लिए युवा इन दोनों योजनाओं में आवेदन जल्द से जल्द करें, ताकि उनके भविष्य के प्रति सरकार की जो चिंता है और उसे पूरा किया जा सके ।
और युवाओं के रोजगार के संकल्प को महागठबंधन सरकार मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के द्वारा हर जिला में एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने के लिए कार्य कर रही है और एक्सपोर्ट आधारित उद्योग की स्थापना के लिए लगातार कार्रवाई कर रही है।

दूसरी ओर विधि मंत्री डॉ मोहम्मद शमीम ने कहा कि जो भी मठ और मंदिर के जमीन विवादित है उनके संबंध में जानकारी के लिए जिला अधिकारी को पत्र लिखा गया है और सभी जमीन को पोर्टल पर डालने का स्पष्ट निर्देश दिया गया है। इन्होंने यह भी कहा कि सभी को न्याय दिलाने के प्रति महागठबंधन संकल्पित है।
इस अवसर पर प्रवक्ता एजाज अहमद ने बताया कि आज लगभग 70 की संख्या में लोगों ने अपनी समस्याओं को मंत्री द्वय के समक्ष रखा और उनके निराकरण और समाधान के दिशा में अपने स्तर से मंत्री द्वय ने सुनवाई और कार्रवाई की। यह कार्यक्रम 01:00 बजे से 03:00 बजे तक चला।
इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता एजाज अहमद, प्रदेश महासचिव मो0 फैयाज आलम कमाल, मदन शर्मा, निर्भय अम्बेदकर, युवा राजद के जेम्स कुमार यादव, शिवेंद्र कुमार तांती, मो0 अफरोज आलम, अजय कुमार सहित अन्य गणमान्य नेतागण कार्यक्रम की व्यवस्था में पूरी तरह से सजगता के साथ मंत्री द्वय की “सुनवाई” कार्यक्रम में सहायता कर रहे थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: