Download App

समस्तीपुर : हसनपुर में बिहार जाति आधारित गणना का दिया गया एक दिवसीय प्रशिक्षण

संजय भारती , समस्तीपुर।

समस्तीपुर जिला के हसनपुर प्रखंड क्षेत्र के हसनपुर बाजार स्थित न्यू इंडिया सुगर मिल्स +2 उच्च विद्यालय हसनपुर में प्रशिक्षण एक दिवसीय जाति आधारित गणना का प्रशिक्षण प्रखंड विकास पदाधिकारी जयकिशन की अध्यक्षता में संपन्न किया गया ।

एक दिवसीय प्रशिक्षण में राज्य स्तरीय गणना के प्रशिक्षक वैजनाथ रजक द्वारा सभी पर्यवेक्षकों को सुपरवाइजर राउंड के लिए प्रशिक्षित किया गया । प्रशिक्षण में मुख्य रूप से प्रगणकों से नजरी – नक्शा , प्रगणक सार , संक्षिप्त मकान सूची प्राप्त संबंधित विस्तार रुप से जानकारी दी गई । प्रशिक्षक बैद्यनाथ रजक ने बताया कि उपयुक्त विषयक एवं प्रासंगिक पत्र के आलोक में जाति आधारित गणना 2022 का प्रशिक्षण दिया गया । प्रखंड स्तर पर पर्यवेक्षक प्रगणक का एक दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम दिनांक 28/12/2022 से 3 जनवरी 2023 तक सुबह के 10:00 बजे से शाम 5:00 तक न्यू इंडिया शुगर मिल्स उच्च विद्यालय हसनपुर रोड में आयोजित किया गया है । पत्र के साथ संगलन सूची में नामांकित सभी पर्यवेक्षक/प्रगणक बैचवार अंकित तिथि को अचूक रूप से ससमय प्रशिक्षण में भाग लिया । वही प्रशिक्षण में बैद्यनाथ रजक ने सभी पर्यवेक्षक को बताया कि अनुसूचित एवं मोबाइल एप्प में प्रत्येक परिवार के सदस्यों का आंकड़ा अंकित किया जाएगा मोबाइल ऐप से या आंकरा राज के सर्वर पर अतिरिक्त होगा जिसे पोर्टल के माध्यम से देखा जा सकता है । मोबाइल एप्प पोर्टल तथा सर्वर इत्यादि पर भी बेल्ट्रॉन द्वारा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है । प्रशिक्षण में प्रशिक्षकों को बिन्दुवार बताया गया है ।
वास्तविक गणना
प्रगणक तथा सहायक के द्वारा प्रत्येक परिवार में जाकर परिवार की मुखिया से प्रपत्र में अंकित प्रश्न के उत्तर लिए जाएंगे ,जिससे प्रपत्र तथा मोबाइल ऐप में अंकित किया जाएगा । प्रपत्र पर परिवार के मुखिया और प्रगणक का हस्ताक्षर होगा , प्रत्येक प्रपत्र और मोबाइल इंट्री की जांच पर्यवेक्षक द्वारा की जाएगी । प्रपत्र एवं मोबाइल ऐप में कोड निर्देशिका अंकित कोड ही भरे जाएंगे । जाति की जानकारी नहीं होने पर अलग-बलग के लोग से पूछ कर इसकी संपुष्टि की जाएगी ।
राज्य के सभी लोगों की गणना की जाएगी, यद्यपि वे किसी कारणवश बिहार के बाहर भी रहते हो । कोई भी क्षेत्र या व्यक्ति गणना कार्य से छूटे नहीं और किसी व्यक्ति परिवार का दो स्थानों पर गणना ना हो ।

मकान सूचीकरण की प्रक्रिया

ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत के अधीन वार्ड को एक इकाई के रूप में रखा जाएगा । यदि इसकी जनसंख्या लगभग 700 (150- 160 परिवार ) से कम होगी, तो इसे एक गणना क्षेत्र में रखा जाएगा। यदि अधिक होगी तो दो गणना क्षेत्र में विभक्त किया जाएगा । प्रत्येक वार्ड में मकानों का नंबरी करण उत्तर दिशा से प्रारंभ कर प्रत्येक मकान को एक मकान गणना अंक दिया जाएगा । इसी को वार्ड के अधीन होल्डिंग नंबर के रूप में स्थाई अंकन के लिए पंचायती राज विभाग और नगर विकास विभाग किया जाएगा । ताकि इसी का उपयोग मकान मालिक के द्वारा सभी प्रकार के कार्यों में किया जा सके ।
जाति आधारित गणना दो चरण में होगी ।

प्रथम चरण मकान सूचीकरण दिनांक 7 जनवरी 2023 से 21 जनवरी 2023 तक
एक :- गणना क्षेत्र का निर्धारण
दुसरा:- संख्या का निर्धारण
तीन:- संक्षिप्त गृह पंजी को तैयार कर किया जाना ।

द्वितीय चरण वास्तविक गणना कार्य दिनांक 4 अप्रैल 2023 से 31 अप्रैल 2023 तक
एक:- प्रगणक द्वारा आंकड़ो को मोबाइल ऐप तथा अनुसूची के माध्यम से संकलन
दुसरा:- चार्ज अधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी तथा जिला अधिकारी के अस्तर पर पोर्टल पर सभी आंकड़ों को अवलोकन एवं संपुष्टि । एक दिवसीय प्रशिक्षण में ललन कुमार भावेश्वर कुमार राजेश रंजन राय रणधीर कुमार प्रखंड प्रशिक्षक सहित आदि पर्यवेक्षक मौजूद थे ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: