Download App

जयंती पर याद किए गए पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कृष्ण बल्लभ सहाय

पटना, बिहार दूत न्यूज।

पूर्व मुख्यमंत्री स्व० कृष्ण बल्लभ सहाय जी की जयंती आज पूरे राज्य में मनायी गयी। स्व० कृष्ण बल्लभ सहाय जी के जन्मदिवस पर राजकीय जयंती समारोह का आयोजन नया सचिवालय, पटना के दक्षिण पेसु के कोने (तीन मुहानी) पर स्थित प्रतिमा स्थल पर किया गया। राज्यपाल फागू चौहान एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्व० कृष्ण बल्लभ सहाय जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

इस अवसर पर वित्त, वाणिज्य कर सह संसदीय कार्य मंत्री  विजय कुमार चौधरी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, स्व० कृष्ण बल्लभ सहाय के परिजन डॉ० हेमंत सहाय एवं  रश्मि सहाय, राज्य नागरिक परिषद् के पूर्व महासचिव अरविंद कुमार सिंह सहित अनेक गणमान्य व्यक्तियों, सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने भी स्व० कृष्णबल्लभ सहाय जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के कलाकारों द्वारा आरती – पूजन, बिहार गीत एवं देश भक्ति गीतों का गायन भी किया गया।

कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत की। जहरीली शराबकांड के अभियुक्त की हुई गिरफ्तारी को लेकर पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जो कुछ भी हुआ उसके लेकर सरकार गंभीर है। दोनों विभाग के अधिकारी इसको देख रहे हैं। एक-एक चीज की जांच हो रही है कि यह कैसे हुआ? यह बात जैसे ही हमारे सामने आयी हमने अधिकारियों से कहा कि यह क्या हुआ है, कैसे हुआ है इसकी जांच करें। हमने अधिकारियों से इसे तत्काल देखने का निर्देश दिया। हमने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि एक-एक चीज पर नजर रखिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ज्यादातर लोग शराबबंदी के पक्ष में है। कुछ लोग गड़बड़ करने वाले होते हैं। उन पर कार्रवाई की जाती है। कई बार जिनको इसको रोकने की जिम्मेवारी होती है वो भी ठीक ढंग से काम नहीं करते तो उन पर भी कार्रवाई होती है। आजकल शराब की सप्लाई करने वाले बाहरी एवं यहां के लोग रोज पकड़ा रहे हैं। हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि शराब के असली धंधेबाजों को खोजकर पकड़िये

जिलों की यात्रा पर जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम हमेशा यात्रा पर जाते रहे हैं। पहले से चल रहे कार्यों को देखेंगे और कहां क्या कमी है, उसे जानेंगे। हम एक-एक चीज को देखने और समझने के लिए यात्रा पर जाते हैं। इलाके में विकास का काम कितना हुआ और कहां पर क्या कमी है, उसे हम स्पॉट पर जाकर देखने जाते हैं। यात्रा के दौरान हम लोगों से मिलकर उनकी बातों को भी सुनेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के द्वारा बिहार में शराबबंदी को लेकर गुजरात मॉडल लागू करने की मांग के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमे पता नहीं है, जब वे हमसे मिलने आयेंगे तो हम उन्हें सारी बात बता देंगे। बिहार में शराबबंदी सर्वसम्मति से लागू हुआ था। शराब की लत को छोड़ने को लेकर हमने लोगों की ट्रेनिंग भी करवायी थी। शराब पीने से लोगों को नुकसान होता है। इन सब चीजों की उनको जानकारी नहीं होगी। हम उनसे पूछ लेंगे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »