Download App

खगड़िया के विकास के लिए बढ़ी और कई संभावनाएं:बबलू मंडल

सड़क व पुल निर्माण तथा संस्कृत महाविद्यालय के जीर्णोद्धार हेतु डीएम ने किया स्थलीय निरीक्षण

Advertisement

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।
देश के सर्वमान्य नेता व बिहार के लोकप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व में खगड़िया जिला सड़क, पुल-पुलिया,शिक्षा-आईटीआई, पॉलिटेक्निक कॉलेज, चिकित्सा, बिजली, पेयजल इत्यादि क्षेत्रों में काफी विकास किया है। जिले के दियारा और फरकिया क्षेत्र में वसे गांवों को जिला मुख्यालय से जोड़ने का काम किया गया है।

उक्त बातें जदयू के जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल ने साल 2022 के अंतिम दिन शनिवार को कचहरी रोड स्थित जदयू के जिला कार्यालय में अपना उद्गार व्यक्त करते हुए पत्रकारों से कही।
श्री मंडल ने कहा कि खगड़िया में बहुत सारे विकास का काम हुआ है, विकास की और कई संभावनाएं बढ़ी है जो नये साल में धरातल पर साकारात्मक तौर पर क्रियान्वित होगा।उन्होंने बताया कि नन्हकू मंडल टोला से दुर्गापुर माली ढ़ाला भाया चौधरी टोला होते हुए दाननगर खगड़िया तक सर्वे सड़क तथा इस बीच गंडक नदी पर पुल का निर्माण होंना है। इस बाबत सदर विधायक छत्रपति यादव के प्रयास के साथ साथ हमने भी पूर्व में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को उनसे मिलकर पत्र दिये थे।अवध बिहारी संस्कृत महाविद्यालय रहीमपुर के प्रांगण में विधायक अनुशंसित मिट्टी भराई- ईंट सोलिंग तथा चहारदीवारी निर्माण कार्य प्रगति पर है।इस महाविद्यालय के कायाकल्प के लिए संस्कृत कॉलेज अधीनस्थ भू- सम्पदा को पैमाइश कराकर सरकारी तथा सामाजिक स्तर पर संरक्षण दिये जाने की व्यवस्था के साथ जीर्णोद्धार कार्य,जन नायक कर्पूरी ठाकुर कल्याण छात्रावास, बालिका छात्रावास निर्माण कराया जाएगा।वहीं खगड़िया शहर के स्टेशन रोड के दोनों तरफ सड़क व नगर सुरक्षा तटबंध बायपास रोड निर्माण कार्य का रास्ता साफ हो गया है।इन सभी कार्यों को तकनीकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है जो गत गुरूवार को जिला पदाधिकारी आलोक रंजन घोष तथा सदर विधायक छत्रपति यादव उक्त सभी कार्य योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। जिला पदाधिकारी के निरिक्षण कार्य से आमजनों में आस जगी है। निरिक्षण के दौरान कांग्रेस जिला अध्यक्ष कुमार भानू प्रताप उर्फ गुड्डू पासवान व राजद नेता दिनेश कुमार यादव अधिवक्ता भी मौजूद थे।
इस मौके पर जदयू के प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री , जिला महासचिव उमेश सिंह पटेल, रामाशंकर सिंह कुशवाहा, रामविलाश महतों, मोहम्मद शहाव उद्दीन आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: