Download App

दरभंगा एम्स को सरकार दिखा रहे हैं दिवास्वप्न : सुभाषचंद्र यादव

संजय भारती , समस्तीपुर


मिथिलांचल के दरभंगा एम्स को लेकर हसनपुर विधानसभा के वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाषचंद्र यादव कहते हैं कि दरभंगा डीएमसीएच के जमीन मे प्रस्तावित एम्स निर्माण मे बाधक उक्त जमीन के अतिक्रमणकारियों को बचाने के लिए एम्स निर्माण को अशोक पेपर मिल में बनाने का स्वप्न दिखाया जा रहा है ।

उन्होंने बताया कि जानकारों की माने तो अशोक पेपर मिल की जमीन विवादित भूमि है जिस पर फिलहाल उस जमीन का मालिकाना हक धरम गोधा के परिवार का है और इस मामले में हाई कोर्ट में केस चल रहा है । वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाषचंद्र यादव ने बताया कि डीएमसीएच की लगभग 100 एकड़ जमीन सत्ताधारी पार्टी के माननीय के चहेतों द्वारा अतिक्रमित किया हुआ है । उन्ही अतिक्रमणकारियों से मोटी रकम लेकर सत्ताधारी पार्टी के माननीय उन्हें बचाने के लिए एम्स निर्माण कार्य अशोक पेपर मिल में करने का झांसा दे रहे हैं । डीएमसीएच में एम्स निर्माण कार्य में मिट्टी करण के नाम पर अरबों रुपए खर्च किए गए हैं जिसमे से करोड़ों रुपए का कमीशन सत्ताधारी पार्टी के माननीय के जेब में पहुंच चुकी है इन्ही सब मुद्दो को ढकने के लिए एम्स निर्माण कार्य को अशोक पेपर मिल स्थानांतरित करने का शिगूफा छोड़ा गया है । सत्ता धारी पार्टी के लोग दरभंगा में जाम से निजात का राग अलाप कर जनता को बेवकूफ बनाने का प्रयास कर रहे हैं । जिस तरह से सत्ताधारी पार्टी जिस तरह से एम्स निर्माण कार्य को फंसा रही है जिससे इनका मनसा साफ होता है कि सत्ताधारी पार्टी मिथिलांचल में किसी भी प्रकार का विकास नहीं चाहती है । सत्ताधारी पार्टी एम्स निर्माण कार्य में मिट्टी करण में अरबों रुपए और अतिक्रमणकारियों को बचाने के लिए एम्स निर्माण का बेड़ा गर्क कर दिया है । एम्स निर्माण कार्य शायद ही अब हो सकता है । जिस तरह अशोक पेपर मिल राजनीति की गंदी आग में जल गई ठीक उसी प्रकार एम्स निर्माण भी ये सत्ताधारी पार्टी अपने लोभ मोह और मिथिलांचल से दुश्मनी के कारण राजनीतिक अग्नि में स्वाहा कर दिया है जिसे मिथिलांचल वासी आने वाले समय में पुरजोर ढंग से सत्ताधारी पार्टी को सबक सिखाने का कार्य करेगी ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: