Download App

पूनम यादव ने किया कर्पूरी जयंती में पिछड़ों-अतिपिछड़ों से पटना चलने का आह्वान..

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।

Advertisement

देश के सर्वमान्य नेता व बिहार के लोकप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के कुशल नेतृत्व में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा-अतिपिछड़ा, अल्पसंख्यक, युवाओं, महिलाओं तथा सवर्णों का शिक्षा,रोजगार, कृषि,स्वास्थ्य एवं आत्मनिर्भरता के लिए कई महत्वपूर्ण कार्यो का धरातल पर साकारात्मक अंजाम दिया गया है,जो वास्तव में जन नायक कर्पूरी ठाकुर के सपनों का राज है।

उक्त बातें बुधवार को चुकती स्थित अपने आवास पर महिला एवं बाल विकास समिति,बिहार विधान सभा पटना की पूर्व सभापति व पूर्व विधायक पूनम देवी यादव ने प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि जन नायक कर्पूरी ठाकुर जी को मैं और मेरे पति पूर्व विधायक रणवीर यादव सदैव अपना आदर्श मानते आये हैं।यही कारण है कि आज सर्वाधिक संख्या में गरीबों, नीरिहों-पीड़ितों और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्तियों का सेवा व सम्मान करते रहे हैं।
श्रीमती यादव ने आगामी 24 जनवरी को पटना के बापू सभागार में पार्टी के द्वारा आयोजित होंने वाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जन नायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती समारोह सह अतिपिछड़ा समागम में अतिपिछड़ा वर्ग के लोगों से सर्वाधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। इनके एकजूटता से ही कर्पूरी जी के सिद्धांतों- विचारों और नीतीश कुमार जी के कामों को मजबूती के साथ जन जन तक पहुंचाने का काम किया जा सकता है।अपने हक अधिकारों के लिए चट्टानी एकता का परिचय देना होगा।
उन्होंने बिहार में चल रहे जातीय आधारित जनगणना कार्य को बेखूबी सराहा।कहा कि सरकार जातीय जनगणना करा रही है इससे सभी वर्ग के लोगों को अपने जन संख्या के मुताबिक अधिकार मिलना तय है।इसी के आधार पर सबका साथ सबका विकास की सिद्धि संभव है।श्रीमती यादव ने बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री के द्वारा रामचरितमानस के कुछ पृष्ठ में अंकित चौपाइयों को लेकर उत्पन्न विवाद के मद्देनजर पुछे गये सवाल से अपने को बचते हुए कहा कि ये राजद कोटे से मंत्री हैं वही इस मसला पर बोल सकते हैं।जहां तक बीजेपी के द्वारा मंत्री के विरुद्ध धरना प्रदर्शन कार्यक्रम चलाने की बात है तो ये खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे वाला कहावत चरितार्थ कर रहे हैं।रामचरित मानस हमारे लिए पूजनीय ग्रंथ है इसे सबको मानना चाहिए।पर इसमें जिस पृष्ठ में आपत्ति जतायी जा रही है उस पर देश के कानूनविदों- विद्वानों का तर्क सामने लाया जाना चाहिए।ताकि भविष्य में उन चौपाइयों पर कोई दूसरा अंगुली नही उठाये।
प्रेसवार्ता के दौरान जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री,बुलबुल यादव, अमरेन्द्र सिंह उर्फ अमीन सिंह,अमित कुमार प्रिंस,डा धीरेन्द्र यादव,त्रिवेणी यादव,ईं0क्याम उद्दीन, मोहम्मद बली, मोहम्मद वासित अली बासो एवं तरूण सिह आदि उपस्थित थे ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: