Download App

हमलोगों ने हर पंचायत में प्लस टू विद्यालय खोलने का लिया है निर्णय: CM नीतीश

बेगूसराय, बिहार दूत न्यूज।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समाधान यात्रा के क्रम में बेगूसराय जिले में विभिन्न विभागों द्वारा चलायी जा रही विकास योजनाओं की प्रगति के संबंध में बेगूसराय समाहरणालय स्थित कारगिल विजय सभा भवन में जिलास्तरीय समीक्षात्मक बैठक की। इस समीक्षात्मक बैठक में विधान पार्षद, विधायकगण तथा विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव / प्रधान सचिव / सचिव शामिल हुए।
बैठक में बेगूसराय के जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जिले में चल रही विभिन्न विकास योजनाओं के संबंध में मुख्यमंत्री को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने अपने प्रस्तुतीकरण में हर घर नल का जल, हर घर तक पक्की गली-नालियां, बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना कुशल युवा कार्यक्रम, सात निश्चय-1 के तहत जिले में निर्माण किए जानेवाले भवनों की स्थिति, पॉलिटेक्निक संस्थानों में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना एवं मत्स्य संसाधन के विकास के संबंध में जानकारी दी। साथ ही मुख्यमंत्री उद्यमी योजना, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के शैक्षणिक उत्थान के लिए आवासीय विद्यालय, मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति छात्रावास अनुदान योजना, महादलित सामुदायिक भवन सह वर्क शेड योजना, जीविका समूह का गठन, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना, उच्चतर शिक्षा हेतु महिलाओं को प्रोत्साहन, अल्पसंख्यक छात्रावास योजना, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक छात्रावास अनुदान योजना, अल्पसंख्यक मुस्लिम परित्यक्ता/तलाकशुदा महिला सहायता योजना, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना, मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग छात्रावास योजना, अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण छात्रावास योजना (पिछड़ा एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए), जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास योजना (अति पिछड़ा वर्ग हेतु), हर खेत तक सिंचाई का पानी सहित अन्य योजनाओं के संबंध में भी मुख्यमंत्री को विस्तृत जानकारी दी गयी
बैठक में शामिल जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के समक्ष अपने-अपने क्षेत्र की समस्याएं रखीं। जनप्रतिनिधियों की समस्याओं के यथाशीघ्र समाधान हेतु मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये।
बैठक में मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हर घर नल का जल योजना को मेंटेन रखें। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ छात्रों को अविलंब मिले, इसका ध्यान रखें। मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ लोगों को ससमय प्रदान करें। इसमें देर नहीं होनी चाहिए, यह बहुत आवश्यक है। बच्चियों का आधार पंजीकरण सुनिश्चित कराएं एवं जन्म के दो वर्ष पूरे होने पर बच्चियों का संपूर्ण टीकाकरण हो, इस पर विशेष निगरानी रखें। उच्चतर शिक्षा हेतु इंटरमीडिएट और स्नातक उत्तीर्ण छात्राओं को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि का भुगतान ससमय कराएं। इसके लिए जितने आवेदन लंबित हैं उनका त्वरित निष्पादन कर प्रोत्साहन योजना के तहत निर्धारित राशि का भुगतान करवाएं। जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास योजना (अति पिछड़ा वर्ग हेतु ) का लाभ
आवासित छात्रों को दिलाएं। उन्होंने कहा कि इस इलाके में अति पिछड़ा वर्ग के लोगों की आबादी काफी है, इसे ध्यान में रखते हुए जरूरतमंद छात्रों को योजना का लाभ दिलाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो अनुमंडल छूटे हुए हैं उन्हें चिह्नित कर वहां डिग्री कॉलेज खोलने की दिशा में कार्य सुनिश्चित करें। इससे छात्र-छात्राओं को उच्चतर शिक्षा हासिल करने में सहूलियत होगी। हमलोगों ने हर पंचायत में प्लस टू विद्यालय खोलने का निर्णय लिया है। जिन डिग्री कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई बंद हो चुकी है, वहां इंटर की पढ़ाई की व्यवस्था सुनिश्चित हो, इस दिशा में भी पहल करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेगूसराय जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भी हम दौरा करते रहे हैं। लोगों की जान-माल की सुरक्षा हेतु अनेक काम कराए गए हैं। हम यहां बाढ़ के दौरान स्थल निरीक्षण के साथ ही हवाई सर्वे के माध्यम से स्थिति की जानकारी लेते रहे हैं। लोगों को राहत पहुंचाने के लिए हरसंभव मदद की जाती है। उन्होंने कहा कि बरसात आने के पूर्व बाढ़ से बचाव के लिए बांधों का सुदृढ़ीकरण एवं हर आवश्यक काम पूर्ण कराएं। उन्होंने कहा कि अधिक वर्षापात होने एवं नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने की स्थिति में भी लोग सुरक्षित रहें, इसको ध्यान में रखते हुए आवश्यक कार्यों को ससमय पूर्ण कराएं।
समीक्षा बैठक में स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि बरौनी रिफाइनरी के कारण सड़क किनारे बेतरतीब ढंग से टैंकर्स लगे रहते हैं जिसके कारण आए दिन सड़क दुर्घटनाएं हुआ करती हैं। इसको गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इसके लिए स्थल चिह्नित कर यथाशीघ्र डेडीकेटेड पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं।
बेगूसराय के जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ने मुख्यमंत्री को पौधा एवं स्मृति चिन्ह भेंटकर उनका अभिनंदन किया।

समीक्षा बैठक में वित्त, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी, विधि मंत्री सह बेगूसराय जिले के प्रभारी मंत्री शमीम अहमद, विधान पार्षद सर्वेश कुमार, विधायक राजकुमार सिंह, विधायक राजवंशी महतो, विधायक कुंदन कुमार, विधायक सुरेंद्र मेहता, विधायक सत्तानंद संबद्ध उर्फ ललन, विधायक सूर्यकांत पासवान, विधायक रामरतन सिंह, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, अपर पुलिस महानिदेशक लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह, विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव / प्रधान सचिव / सचिव, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, आयुक्त मुंगेर प्रमंडल संजय कुमार सिंह, पुलिस उप महानिरीक्षक बेगूसराय बाबू राम, जिलाधिकारी बेगूसराय रोशन कुशवाहा, पुलिस अधीक्षक बेगूसराय योगेंद्र कुमार सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।
समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा कि समाधान यात्रा के क्रम में हमलोग आज यहां पहुंचे हैं। बेगूसराय में भी नये-नये ढंग से बहुत सारे लोग अच्छा काम कर रहे हैं। हमने इनके कामों को देखा है। यात्रा के दौरान लोग अपनी समस्याएं भी हमें बता रहे हैं। सभी लोगों की बातों को सुनने से समस्याओं को लेकर जानकारी मिल जाती है। समीक्षा बैठक में विधायक, विधान पार्षद समेत सभी लोग अपनी बातों को रखते हैं। बैठक में जिले में क्या-क्या काम कराये जा रहे हैं इसको लेकर जिलाधिकारी की तरफ से पूरी जानकारी दी जाती है। बेगूसराय हमलोग हमेशा आते रहे हैं। यहां की समस्याओं के समाधान को लेकर जो किया जा रहा है उसके अलावा जो कुछ भी करना जरुरी होगा, वो किया जायेगा। समीक्षा बैठक में इसको लेकर पूरी चर्चा हुई है। हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है। बेगूसराय में मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है।
समाधान यात्रा को मिली सफलता के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 4 जनवरी से हमने समाधान यात्रा की शुरुआत की थी। आज समाधान यात्रा का समापन हो रहा है। यह यात्रा काफी अच्छी रही है। बिहार में काफी दिनों से हमलोग काम कर रहे हैं। कई काम हमलोगों ने करवाये हैं। सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का हमलोग हमेशा जायजा लेते रहते हैं। बाढ़ के समय भी सभी जगहों पर जाकर जायजा लेते हैं। इस बार की समाधान यात्रा का मकसद है विकास के जितने काम कराये जा रहे हैं उनका प्रोग्रेस देखना और कहीं कुछ और करना आवश्यक है तो उसकी जानकारी लेना। इस बार हमने एक-एक चीजों को जाकर देखा है। हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जहां जो काम चल रहा है उसे पूरा करना है। इसके साथ ही अगर कहीं कुछ और करने की जरुरत है तो उसको आइडेंटिफाइ कर उसे भी पूर्ण करें। इसको लेकर अगर कोई नीति बनानी होगी तो हमलोग बनायेंगे। यही हमारी यात्रा का उद्देश्य है । कोई काम बाकी नहीं रहेगा, सभी को पूरा करायेंगे ।

समाधान यात्रा को लेकर विपक्ष द्वारा उठाये गये सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग ऐसी बातें बोलते हैं उन्हीं से आपलोग पूछिए । चाहे कितनी भी ठंड रही हो, हमलोग हर मौसम में घूमते रहते हैं। यात्रा के दौरान काफी तादाद में लोग मुझसे मिलकर अपनी बातें कहते हैं। बिहार में हमलोग यात्रा करते रहे हैं। समाधान यात्रा मेरी पहली यात्रा नहीं है। हम काफी पहले से घूमते रहे हैं। यात्रा में हमें कोई दिक्कत नहीं होती है। बिहार में सरकार में आने के बाद हमलोगों ने वर्ष 2009 में यात्रा की शुरुआत की। सरकार में आने के पहले वर्ष 2005 में भी हमने बिहार में यात्रा की थी। बीच में कोरोना के कारण इसमें थोड़ी दिक्कत आयी थी। इस बार हमने तय किया था कि एक-एक चीज को एक बार फिर से जाकर देखेंगे। इसी क्रम में हमलोग घूम रहे हैं। सभी चीजों के बारे में जानकारी रहने से काम करने में सुविधा होती है।
समाधान यात्रा में मिले जन समर्थन के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता से मिलने पर फीडबैक मिलता है। यात्रा के दौरान लोग अपनी खुशी एवं समस्याएं दोनों बताते हैं। यह अच्छी बात है। अगर कोई अपनी समस्या बताता है तो हमलोग रुककर उनकी बातों को सुनते हैं। हमारी यात्रा का यही मकसद है।


विपक्ष द्वारा इसे व्यवधान यात्रा बताये जाने के सवाल पर मुख्यमत्री ने कहा कि कौन क्या बोलता है इस पर मत जाइये। हम जो कर रहे हैं उसे देखिए । हम इन सब चीजों पर क्या बोलें, हमलोग काम करने वाले लोग हैं। शुरु से ही हमलोग काम करने में लगे हैं ।
प्रधानमंत्री बनने के लिये मुख्यमंत्री के समर्थन में लग रहे नारे के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम इन सबको मना करते हैं। हमारी ऐसी कोई इच्छा नहीं है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »