Download App

दलित – गरीबों के घर पर बुलडोजर नहीं चलने दिया जाएगा : धीरेंद्र झा

संजय भारती , समस्तीपुर।

Advertisement

 

समस्तीपुर जिला के ताजपुर में खेग्रामस के राष्ट्रीय महासचिव धीरेंद्र झा , राज्य कार्यकारी सचिव शत्रुधन सहनी , राज्य उपाध्यक्ष जीबछ पासवान , जिला अध्यक्ष उपेंद्र राय , माले प्रखण्ड सचिव सुरेन्द्र प्रसाद सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार को प्रशासन द्वारा उजाड़ने पर आमादा दलित बस्ती मुर्गियाचक – बहादुरनगर का दौरा पर बसे परिवारों के सदस्य से मिलकर स्थल निरिक्षण किया । इस दौरान स्थानीय लोगों ने जांच टीम को इंदिरा आवास, बंदोबस्त की जमीन, बिजली का कागजात, राशनकार्ड, आधारकार्ड, वोटर लिस्ट आदि कागजात दिखाया , तत्पश्चात स्थानीय लोगों ने मुहल्ले में बने आंगनबाड़ी केंद्र, चुनाव बुथ, सार्वजनिक शौचालय आदि भी दिखलाया ।

इस दौरान उपस्थित मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए भाकपा माले पोलिट ब्यूरो सदस्य सह खेग्रामस के राष्ट्रीय महासचिव धीरेंद्र झा ने कहा कि यहाँ सैकड़ों दलित – गरीब – भूमिहीन परिवार प्रशासन के सहयोग से केशरेहिंद की जमीन खातासं०-606 पर पुस्तैनी बसा हुआ है. यहाँ बसे परिवारों को इंदिरा आवास, पर्चा, जमीन की बंदोबस्ती समेत बसे परिवारों के लिए सरकार द्वारा बिजली, पानी, सड़क, बुथ, आंगनबाड़ी केंद्र, सार्वजनिक शौचालय, राशनकार्ड, आधारकार्ड, आवासीय प्रमाण-पत्र आदि सरकारी सुविधाएं उपलब्ध है.
बाबजूद इसके खुद सरकारी जमीन पर कुंडली मगर कर बैठे भाजपा नेता द्वारा उक्त जमीन को खाली कराकर निजी कब्जा जमाने के उद्देश्य से हाईकोर्ट में सीडब्लूजेसी-3379/2018 दायर कर लोगों को बेदखल कराने की कोशिश किया जा रहा है. प्रशासन को इसके खिलाफ हाईकोर्ट में पुस्तैनी बसे परिवारों का पक्ष रखना चाहिए लेकिन पक्ष नहीं रखना बसे परिवारों के खिलाफ अन्याय है और इस अन्याय के खिलाफ खेग्रामस एवं भाकपा माले सड़क से सदन तक संघर्ष करेगी । इस दौरान माले नेता धीरेंद्र झा ने नई वास- आवास नीति बनाने, कालनी बनाकर भूमिहीनों को देने, उजाड़ने से पहले बसाने की व्यवस्था करने, भूमिहीनों को पर्चा, आवास देने, पर्चाधारी को कब्जा दिलाने को भूमि सुधार मंत्री से मिलने एवं मामले को विधानसभा में उठाने की जानकारी दी । मौके पर मो० एजाज, प्रभात रंजन गुप्ता, मो० दुलारे, मो० एकरामुल खान, अर्जुन कुमार, नीलम देवी, सुखिया खातुन, रजिया देवी, शिवबालक पासवान समेत सैकड़ों स्थानीय महिला- पुरुष उपस्थित थे ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: