Download App

पूर्णिया: डीडीसी ने पोषण जागरूकता रथ को किया रवाना..

पूर्णिया, बिहार दूत न्यूज।

समेकित बाल विकास परियोजना (आईसीडीएस) द्वारा 20 मार्च से 03 अप्रैल तक पोषण पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है।

इस दौरान जिले के सभी लोगों तक उपयुक्त श्री अन्न में शामिल मोटे अनाजों (मिलेट) के लाभों के प्रति जागरूक किया जाएगा। मंगलवार को डीडीसी पूर्णिया सहिला द्वारा पोषण जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर पोषण पखवाड़े की शुरुआत की गई। पोषण जागरूकता रथ द्वारा जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर लोगों को पोषण के लिए श्री अन्न में शामिल मोटे अनाज के उपयोग के प्रति जागरूक किया जाएगा।

इस दौरान सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी, डीपीओ आईसीडीएस रजनी गुप्ता, पोषण अभियान की जिला समन्वयक निधि प्रिया, श्रीनगर, पूर्णिया पूर्व (शहरी व ग्रामीण), जलालगढ़ एवं कसबा की सीडीपीओ, महिला पर्यवेक्षिका व विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका उपस्थित रही।

विभिन्न गतिविधियों द्वारा खाद्य विविधता की लोगों तक पहुँचाई जाएगी जानकारी :
पोषण जागरूकता रथ को रवाना करते हुए डीडीसी सहिला ने बताया कि 20 मार्च से 03 अप्रैल तक आयोजित पोषण पखवाड़े के दौरान लोगों तक पोषण के प्रति जागरूकता लाने के लिए विभिन्न प्रकार के जागरूकता अभियान का संचालन किया जाएगा। इस दौरान पोषण रैली, प्रभात फेरी, साइकिल रैली आदि द्वारा लोगों तक श्री अन्न आधारित भोजन, खाद्य विविधता आदि की जानकारी दी जाएगी। सभी गतिविधियों के दौरान “स्वस्थ शरीर-समृद्ध दिमाग” के स्लोगन के साथ लोगों को उपयुक्त पोषण की जानकारी दी जाएगी। जिसका उपयोग करते हुए लोग स्वस्थ जीवन का लाभ उठा सकते हैं।

पोषण के लिए श्री अन्न (मोटे अनाज) का किया जाएगा प्रचार प्रसार :
आईसीडीएस डीपीओ रजनी गुप्ता ने बताया कि पोषण पखवाड़े के दौरान लोगों को श्री अन्न में शामिल मोटे अनाज के उपयोग की जानकारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि गर्भवती/धात्री महिलाओं व बच्चों के बेहतर स्वस्थ के लिए मोटे अनाज की उपयोगिता आवश्यक है। इसमें चावल, दाल आदि शामिल हैं। इसके उपयोग करने से महिला व बच्चों के स्वास्थ्य में तंदुरुस्ती मिलती है जिससे कि उनका जीवन हृष्ट-पुष्ट हो सकता है। लोगों तक पोषण की इसी जानकारी को पहुँचाने के लिए पोषण रथ को रवाना किया गया है। इसके अतिरिक्त पोषण रथ द्वारा लोगों को गर्मी एवं लू से बचाव एवं उपचार आदि की जानकारी दी जाएगी।

पोषण पखवाड़े में स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा का होगा आयोजन :
पोषण अभियान की जिला समन्वयक निधि प्रिया ने बताया कि पोषण अभियान के दौरान जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान केंद्र में उपलब्ध सभी बच्चों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जायेगी। इसमें बच्चों के वजन, लंबाई, खान-पान आदि की जानकारी ली जाएगी और सभी बच्चों को पोषण के विभिन्न आयामों की जानकारी देते हुए पोषण युक्त भोजन का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »