Download App

हसनपुर रोड रेलवे स्टेशन बना हसनपुर रोड जक्शन, हसनपुर-बिथान के बीच 110 किलोमीटर की स्पीड से दौड़ी ट्रायल ट्रेन

संजय भारती , समस्तीपुर।

समस्तीपुर रेल मंडल के हसनपुर रोड – सकड़ी रेल लाइन परियोजना का हसनपुर रोड – बिथान के बीच कार्य पूरा होने के बाद मंगलवार को ट्रायल ट्रेन को 110 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ाया गया । जिससे क्षेत्रीय लोगों में खुशी झलक रही है ।

क्योंकि बिथान के लोगों का 50 सालों का सपना अब पूरा होने जा रहा है । बताते चलें कि हसनपुर – सकरी 76 किलोमीटर रेल परियोजना के तहत हसनपुर – बिथान के बीच 11 किलोमीटर में रेल लाइन का कार्य पूरा करने के बाद मंगलवार को ईस्टर्न जोन के सीआरएस शुभमोय मित्रा और समस्तीपुर डीआरएम आलोक अग्रवाल ने रेलवे अधिकारियों की टीम के साथ हसनपुर रोड जक्शन पहुँच कर नई रेल लाइन का निरीक्षण किया । इस दौरान 110 किलोमीटर की स्पीड से ट्रायल ट्रेन हसनपुर से बिथान तक दौड़ी ।

सीआरएस निरीक्षण सफल बताया गया है । जिसके बाद इस रेलवे स्टेशन के बीच ट्रेन सेवा जल्द शुरू होने की उम्मीद लगाई जा रही है। सीआरएस निरीक्षण के बाद डीआरएम आलोक अग्रवाल ने बताया कि सीआरएस ने निरीक्षण में सब चीज ठीक – ठाक पाया है । जल्द ही हसनपुर रोड जक्शन और बिथान रेलवे स्टेशन के बीच ट्रेन सेवा बहाल कर दी जाएगी । माना जा रहा है कि अप्रैल माह से इन दोनों स्टेशन के बीच ट्रेन चलने की उम्मीद है । हसनपुर से बिथान स्टेशन के बीच ट्रेन सेवा शुरू होने की खबर से क्षेत्रीय लोगो मे खुशी का माहौल है । खास तौर पर बिथान इलाके के लोगों का 50 सालों का सपना अब पूरा होगा । बताते चलें कि हसनपुर – सकड़ी रेल खण्ड परियोजना को लेकर 1951 में रेलवे बोर्ड को बताया गया लेकिन रेलवे बोर्ड ने 1953 में इसे बाढ़ इलाका घोषित कर इस परियोजना को निरस्त कर दिया । जिसे तत्कालीन रेल मंत्री दिवंगत ललित नारायण मिश्र ने 1972 में सकरी – हसनपुर रोड रेलवे सर्वे की घोषणा कर फाइल खोलवाए थे । इसी बीच 1975 में तत्कालीन रेल मंत्री ललित बाबू हत्या बंम बिस्फोट कर समस्तीपुर रेलवे जक्शन पर कर दी गई थी । जिस कारण सकरी – हसनपुर रोड रेलवे का विस्तारीकरण का फाइल बन्द हो गया । जिसे पुनः तत्कालीन रेल मंत्री दिवंगत रामविलास पासवान ने 1997 में हसनपुर रोड – सकरी रेल विस्तारीकरण के लिए फाइल खोलकर फंड उपलब्ध कराकर हसनपुर – सकरी रेल लाइन के लिए शिलान्यास किया । परन्तु रामविलास पासवान के रेल मंत्री से हटते ही कई सालों तक इस रेल खण्ड विस्तारीकरण के लिए राशि आवंटित नहीं किया गया, जिस कारण काम ठप्प पड़ गया । जिसके बाद पुनः तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद ने इस खण्ड के लिए राशि उपलब्ध करवाई जिसके बाद कार्य में कुछ तेजी आया परन्तु उनके रेल मंत्री हटते ही पुनः रेलवे कार्य पर विराम सा लग गया । जिसके बाद से इस रेल खण्ड का काम कच्छप गति से चल रहा था । जैसे तैसे फंड मिलता गया वैसे वैसे इस रेल खण्ड पर काम चलते रहा, जो 2023 में हसनपुर रोड जक्शन से बिथान तक क्षेत्रीय लोग रेल का सवारी कर सकेंगे ।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »