Download App

कोविड संक्रमण से लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता : CS

पूर्णिया, बिहार दूत न्यूज। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग बिल्कुल सतर्क हो गया है। लोगों को इससे सुरक्षित रखने के लिए फिर से कोविड टीकाकरण केंद्र की शुरुआत की जा रही है। इसको लेकर जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा आवश्यक तैयारी शुरू कर दी गयी है। जिले में कोविड-19 टीकाकरण के लिए 1000 वाइल्स कोर्बीवैक्स उपलब्ध कराई गई है। कोर्बीवैक्स का टीका 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को प्रीकॉशन डोज के रूप में तथा 12-14 आयुवर्ग के बच्चों को प्रथम/द्वितीय खुराक के रूप में लगाया जाएगा।

जिले में उपलब्ध कराई गई है कोर्बीवैक्स की 1000 वाइल्स :
सिविल सर्जन डॉ. अभय प्रकाश चौधरी ने बताया कि लोगों को कोविड-19 से सुरक्षित रखने के लिए जिले में फिर से कोविड-19 टीकाकरण केंद्र की शुरुआत की जा रही है। अगले 2-3 दिनों में इसकी सुविधा राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल में शुरू कर दी जाएगी । लोगों की जरूरत के अनुसार इसे सभी प्रखंडों के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए जिले में कोर्बीवैक्स की 1000 वाइल्स उपलब्ध हो गई है। यह वैक्सीन 18 वर्ष के अधिक उम्र के उनसभी लोगों को लगायी जा सकती है जिन्होंने किसी भी तरह के कोरोना वैक्सीन (कोविशील्ड या कोवैक्सीन) के दोनों डोज का लाभ उठा लिया है। इसके साथ ही 12 से 14 आयुवर्ग के बच्चों को भी यह वैक्सीन प्रथम/दूसरे खुराक के रूप में लगायी जाएगी।

लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता :
सिविल सर्जन डॉ. चौधरी ने कहा कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोगों को ज्यादा पैनिक होने की जरूरत नहीं है। इसके बदले लोगों को ज्यादा सतर्कता एवं टीकाकरण डोज पूरा करने की जरूरत है। सभी लोगों को संक्रमण से सुरक्षा के लिए कोविड-19 टीकाकरण के तीनों डोज का लाभ उठाना सुनिश्चित करना चाहिए। इसके साथ ही लोगों को लोगों को सुरक्षित रहने के लिए आवश्यक प्रोटोकॉल का भी पालन करना चाहिए। लोग सार्वजनिक स्थलों में मास्क का उपयोग करते हुए लोगों से आवश्यक दूरी बनाने एवं नियमित रूप से सैनिटाइजर द्वारा हाथों की सफाई का ध्यान रखना चाहिए। इससे बढ़ते हुए संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है।

हीट वेव के प्रति भी लोगों को सर्तक रहने की है जरूरत :
सिविल सर्जन ने बढ़ती गर्मी को देखते हुए लोगों को हीटवेव से भी सुरक्षित रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बढ़ते तापमान को देखते हुए लोगों को अतिआवश्यक कार्य होने पर ही बाहर निकलना चाहिए। बाहर निकलने के दौरान लोगों को छाता, टोपी,चश्मा व जूते का उपयोग करना चाहिए। अगर किसी को धूप में बाहर जाना जरूरी है तो उन्हें हल्के कपड़े, हल्के रंग के कपड़े, ढीले, सूती कपड़े पहनना चाहिए। बाहर निकलते समय लोगों को एक बोतल पानी जरूर रखना चाहिए और नियमित अंतराल पर पानी पीना चाहिए जिससे हीट वेव शरीर को प्रभावित कर सके। शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए ओआरएस का घोल लें, घर पर बने हुए पेय पदार्थों का सेवन करें जैसे लस्सी, तोरानी (चावल का पानी), नींबू पानी, छाछ आदि जो आपके शरीर को हाइड्रेट करने में मदद करेगा।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »