Download App

बाबा साहब डॉ. भीमराव राव अंबेडकर ने दलित, पिछड़ा ,अकलियत के अधिकार और सम्मान के लिए संविधान बनाया, उस संविधान पर है खतरा : पूर्व डीजीपी अशोक

बिहार दूत न्यूज, खगड़िया।

बुधवार को चौथम प्रखंड के नाटय कला परिषद,करुआमोड़ में प्रखंड स्तरीय अंबेडकर परिचर्चा कायर्क्रम पूर्व नगर सभापति सह राजद जिलाध्यक्ष मनोहर कुमार यादव एवं जिला प्रधानमहासचिव नंदलाल मंडल के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ।
अंबेडकर परिचर्चा का अध्यक्षता चौथम प्रखंड अध्यक्ष मो०इकबाल और मंच संचालन प्रखंड प्रधान महासचिव रामविलास यादव ने किया।
परिचर्चा कार्यक्रम का मुख्य वक्ता राजद बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सह बिहार के पूर्व डीजीपी अशोक कुमार गुप्ता , सह वक्ता वरिष्ठ नेता शिवनंदन भगत , जिला उपाध्यक्ष कैलाशचंद्र यादव, चौथम प्रखंड प्रभारी मानसी नगर पंचायत के उपमुख्य पार्षद सह जिला महासचिव पप्पू कुमार सुमन, युवा जिलाध्यक्ष उदय यादव,महिला जिलाध्यक्ष रंजू सहनी, आपदा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष जितेंद्र कुमार उर्फ राजा चौधरी, पंचायतीराज प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष राजकिशोर यादव,पूर्व राजद जिलाध्यक्ष अबु मोहम्मद उर्फ गुदर सेठ,गोगरी राजद नगर अध्यक्ष आकर्षण चौरसिया, चौथम प्रखंड कोषाध्यक्ष जवाहर साह,मो०सुहेल,मो० इलयास,वार्ड पार्षद अमृतराज, सुमित कुमार,पूर्व पंचायत समिति सदस्य चंदन पासवान, राजनरायन रजक, जिला मीडिया प्रभारी सह पूर्व वार्ड पार्षद रणवीर कुमार मौजूद थे।
परिचर्चा के मुख्य वक्ता राजद बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सह बिहार के पूर्व डीजीपी अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि बाबा साहब डॉ० भीमराव राव अंबेडकर ने दलित, पिछड़ा ,अकलियत के अधिकार और सम्मान के लिए संविधान बनाया उस संविधान पर खतरा है ।जब संविधान खतरा में है तो देश का लोकतंत्र भी खतरा में है। इसी को लेकर दलित, पिछड़ों,अल्पसंख्यक ,शोषित, पीड़ित को राजद सुप्रीमो गरीबों के मसीहा लालू प्रसाद यादव ने संघर्ष के बल पर उनको अधिकार अधिकार दिलाया। आज फिर से उस अधिकार को समाप्त करने का सामंतवादी सोच रखने वाले केंद्र में बैठी बीजेपी की सरकार षडयंत्र कर रही है उस षडयंत्र को नाकाम करने के लिए अंबेडकर परिचर्चा के माध्यम से लोगों को जागरूक कर अपने अधिकार और सम्मान को बचाने के लिए वोट के द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव में बिहार के सभी सीटों ओर महागठबंधन के प्रत्याशी को लोकसभा भेजने का काम करेगें ताकि संविधान को बचाने काम करेगें।
सह वक्ता शिवनंदन भगत ने कहा कि हमारे देश में विगत आठ वर्षों से भाजपा की सरकार ने पिछड़ों, दलितों एवं वंचितों के हितों पर प्रहार कर संविधान पर प्रहार किया है। देश के सभी सरकारी संपत्ति को निजी कम्पनियों के हाथों बेचने का मुख्य मकसद है संविधान के द्वारा दलित पिछड़ों को सरकारी नौकरियों में मिलने वाली आरक्षण को समाप्त करना है। नई शिक्षा नीति लाकर शिक्षा से दलित पिछड़ों को वंचित करने का प्रयास कर रही है हम सभी रास्ट्रीय जनता दल के सिपाही ऐसा नहीं होने देगी।
पूर्व नगर सभापति सह राजद जिलाध्यक्ष मनोहर कुमार यादव ने कहा कि अम्बेडकर परिचर्चा की जरुरत इसलिए पड़ी है कि बाबा साहब के बनाये संविधान को समाप्त करने के लिए मोदी सरकार देश में निजीकरण को बढ़ावा दे रही है दलितों, पिछड़ों के आरक्षण से मिलने वाली नौकरियों पर हमले कर रही है।देश के मेहनतकश लोगों के पाई- पाई जोड़कर किये गये बचत एवं एल आई सी जैसे सरकारी संस्थानों में जमा किये गये पैसों को नियम कानून ताक पर रखकर अडानी जैसे जैसे व्यपारिक मित्रों को लूटा रही है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »