Download App

युवा राजद ने केंद्र सरकार के खिलाफ नई शिक्षा नीति ,जातीय जनगणना एवं बढ़ती महंगाई को लेकर दिया महाधरना

बिहार दूत न्यूज, खगड़िया।

सम्पूर्ण क्रांति दिवस के अवसर पर केंद्र में बैठी नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ नई शिक्षा नीति ,जातीय जनगणना एवं बढ़ती महंगाई को लेकर युवा राजद जिलाध्यक्ष उदय यादव की अध्यक्षता में खगड़िया समाहरणालय के समक्ष एक दिवसीय महाधरना दिया गया।
महाधरना कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राजद विधायक रामवृक्ष सदा और पूर्व नगर सभापति सह राजद जिलाध्यक्ष मनोहर कुमार यादव उपस्थित थे। महाधरना का संचालन किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सुजय यादव ने किया।
राजद विधायक रामवृक्ष सदा ने कहा कि केंद्र में बैठी आर एस एस और बीजेपी की सरकार साजिश के तहत बिहार में हो रहर जातीय जनगणना पर रोक लगवा दिया है। जातीय जनगणना जाति एक महत्वपूर्ण कारक है जो मनुष्य को सामाजिक राजनीतिक और आर्थिक स्तर पर पहचान देता है इसी के कारण भाजपा जातिगत नहीं कराना चाहती है ताकि सामंतवाद वर्चस्व बना रहे।पिछले नब्बे वर्षों से जाति जनगणना नहीं की गई है। लालू प्रसाद यादव के मजबूत सहयोग से जब जब केंद्र में सरकार बनी जाति जनगणना का कार्य आगे बढ़ाया गया। केन्द्र में बैठी मोदी सरकार जातीय जनगणना इसलिए नहीं कराना चाहती है कि भाजपा को बाबा साहब के रचित संविधान पर भरोसा नहीं है।भाजपा नहीं चाहती है कि धन ,धरती, शिक्षा,नौकरी, हिस्सा,राजपाट, दलित ,शोषित, वंचित पिछड़ों अतिपिछड़ों के पास जाये।भाजपा नहीं चाहती है कि दलितों ,पिछड़ो, अतिपिछड़ों ,शोषितों, एवं वंचित समाज को सामाजिक आर्थिक और राजनीतिक हिस्सेदारी मिले।
पूर्व नगर सभापति सह राजद जिलाध्यक्ष मनोहर कुमार यादव ने कहा कि केंद्र बैठी मोदी सरकार नई शिक्षा नीति लागू करना चाहती है उसके पीछे बहुत बड़ी साजिश है कि एस सी एसटी ओ बी सी ,अल्पसंख्यक गरीब के बच्चों को शिक्षा से वंचित करना है।निजी विश्वविद्यालय के आने से मौजूदा आरक्षण नीति को समाप्त करना है।निजी विश्विद्यालयों को सरकारी विश्विद्यालयों समक्ष स्थापित करना बहुजनों के लिए अभिशाप है।जो आरक्षण नीति 05अप्रैल 2006 को लागू हुई थी, वह अब निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना के कारण बुरी तरह प्रभावित होगी। नई शिक्षा नीति में सरकारी स्कूल और कॉलेज को धीरे धीरे समाप्त कर दिया जायेगा जहाँ नब्बे प्रतिशत वंचित दलित पिछड़ा अतिपिछड़ा के बच्चे पढ़ते हैं।उसके जगह निजी स्कूल कॉलेज खुलेगें जहाँ निर्धन गरीब दलित वंचित समाज के लोग अपने बच्चों को पढ़ा नहीं सकते हैं यानि कलान्तर में एक बड़ी आबादी शिक्षा से वंचित हो जायेगी।
जिला प्रधानमहासचिव नंदलाल मंडल ने कहा कि पहले नारा था भंगी का बेटा हो या राष्ट्रपति का संतान सबको शिक्षा एक समान नई शिक्षा नीति के लागू होने से वंचित शोषित दलित को नही है शिक्षा का अधिकार क्योंकि भाजपा चाहती है मनुस्मृति का विस्तार।
शिक्षक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष प्रोफेसर संजय कुमार मांझी ने कहा कि केंद्र बैठी मोदी सरकार पहले तो सभी सरकारी संपत्तियों को पूंजीपतियों के हाथों बेच युवाओं को बेरोजगार और आरक्षण को खत्म करने का साजिश कर चुकी है अब शिक्षा से भी वंचित करने का साजिश कर रही है। डॉ बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने कहा था कि शिक्षा वह शेरनी का दूध है जो पियेगा वही दहाड़ेगा। इसलिए संविधान विरोधी मनु स्मृति को मानने वाली केंद्र की सरकार नई शिक्षा नीति लाकर दलित ,पिछड़ों ,अल्पसंख्यक शोषित वर्ग को शिक्षा से वंचित करने की साजिश कर रही है।
मानसी नगर पंचायत के उप मुख्य पार्षद सह जिला महासचिव पप्पू कुमार सुमन ने कहा कि महंगाई चरम पर है 2014 से पहले गैस सिलेंडर साढ़े तीन सौ से तीन सौ सत्तर के बीच था तो केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सिर पर सिलेंडर लेकर सड़क पर प्रदर्शन कर रही थी आज वही सिलेंडर 1200 में है तो वह सत्ता सुख ले रही है।
महाधरना की अध्यक्षता कर रहे युवा जिलाध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2014 के पहले महंगाई डायन बनकर खा रही थी तो अब चुड़ैल बनकर चबा रही है लेकिन मोदी सरकार पड़ोसी देश के खाद्य वस्तुओं का दाम गिनाकर राष्ट्रभक्ति का प्रमाण पत्र प्राप्त कर लेती है।
विधिज्ञ संघ के जिलाध्यक्ष नागेस्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि केंद्र में जो आर एस एस और मनुस्मति को मानने वाली सरकार संविधान विरोधी सरकार है वह गरीब विरोधी सरकार है।ये बीजेपी के जो भी नेता हैं ये लोग आजादी की लड़ाई में भी भाग नहीं लिये थे।
महाधरना में मुख्य रूप से प्रदेश महासचिव नरेश सहनी, प्रदेश सचिव कुमार रंजन पप्पू, संजीव कुमार,राज्य परिषद सदस्य प्रफुलचंद्र घोष, पूर्व नगर पार्षद सह जिला मीडिया प्रभारी रणवीर कुमार,पूर्व नगर पार्षद चंद्रशेखर कुमार, पूर्व जिला परिषद अजीत सरकार,नगर पार्षद सह जिला महासचिव पप्पू यादव, महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष रंजू सहनी, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष जुल्फिकार अली, किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष गजेंद्र यादव, आपदा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष जितेंद्र कुमार उर्फ राजा चौधरी,पंचायती राज प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष राजकिशोर राज, दिव्यांग प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष निभा भारती, अधिवक्ता प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष दिनेश यादव,बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष बिनोद कुमार यादव, व्यवसायिक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष शम्भू पौद्दार, मजदूर प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष अमित चौरसिया,सांस्कृतिक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष अंकित कुमार, जिला उपाध्यक्ष कैलाशचंद्र यादव,प्रमोद यादव, प्रकाश राम, जिला सचिव रंजीत दास, तेजनारायण यादव,विधानंद यादव, रामनरायन राम, शकलदीप यादव,जिला प्रवक्ता धनंजय यादव, गोगरी प्रखंड अध्यक्ष राकेश यादव,मानसी प्रखंड अध्यक्ष बरुन यादव, चौथम प्रखंड अध्यक्ष मो इकबाल, अलौली प्रखंड अध्यक्ष महेंद्र राम,खगड़िया नगर अध्यक्ष पंकज कुमार,गोगरी नगर अध्यक्ष आकर्षनराज चौरसिया,परबत्ता नगर अध्यक्ष अली इमाम, राजद नेता सुबोध यादव, नीरज यादव,पृथ्वी तांती, श्रीकांत पौद्दार, सुमित कुमार मो नसीम उर्फ लंबू ,युवा नेता संजय कुशवाहा, नगर अध्यक्ष विक्की आर्या, युवा राजदप्रदेश सचिव मनीष यादव,युवा जिला युवा उपाध्यक्ष संजीव यादव, रियाज अली,बेलदौर युवा अध्यक्ष अफरोज लालम, युवा प्रवक्ता लव कुमार, कोषाध्यक्ष सुबोध कुमार यादव,राजेश यादव सहित सैकड़ों राजद नेता मौजूद थे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »