Download App

जांच की गुणवत्ता में सुधार को लेकर लैब टेक्नीशियनों को दिया गया प्रशिक्षण

अररिया, बिहार दूत न्यूज।

स्वास्थ्य जांच न केवल किसी रोग के शुरुआती लक्षणों का पता लगाने के लिहाज से जरूरी होता बल्कि इसकी मदद से रोग को ज्यादा खतरानाक होने से भी रोका जा सकता है। इसलिये चिकित्सक किसी व्यक्ति के शारीरिक समस्याओं का पता लगाने के लिये निर्धारित जांच की सलाह देते हैं। इससे चिकित्सकों को भी रोग के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी हासिल होती है। जो रोग के प्रभावी इलाज के लिये जरूरी होता है। गुणवत्तापूर्ण जांच रोग का पता लगाने के साथ-साथ किसी बीमार व्यक्ति के समुचित इलाज के लिये भी जरूरी होता है। सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध जांच संबंधी सुविधाओं की गुणवत्ता सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से लैब टेक्नीशियनों का एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिति सभागार में किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह, डीआईओ डॉ मोईज, डीपीएम संतोष कुमार, डीएमएनई पंकज कुमार सहित अन्य ने सामूहिक रूप से किया। प्रशिक्षण के उपरांत इसमें शामिल लैब टेक्नीशियन को सिविल सर्जन सहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारियों ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। साथ ही प्रशिक्षण से प्राप्त अनुभव का उपयोग करते हुए अपनी जिम्मेदारियों के सफल निवर्हन के लिये उन्हें प्रेरित किया।
जांच से जुड़ी महत्वपूर्ण पहलूओं से कराया अवगत –
प्रशिक्षण में मुख्य प्रशिक्षक प्रफुल्लचंद्र मिश्रा व राहुल सिंह ने लैब में जांच के दौरान अपनाई जाने वाली प्रक्रिया के विषय में विस्तृत जानकारी दी। सैंपलिंग से लेकर गुणवत्तापूर्ण जांच रिपोर्ट जारी करने से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी लैब टेक्नीशियनों को दी गयी। साथ ही लैब में उपयोग आने वाली मशीन को चलाने से लेकर इसके समुचित देखरेख को लेकर उनके रखरखाव के बारे में बताया गया। पीपीटी के जरिये लैब के क्रियाकलाप व सही रिपोर्ट जारी करने में बरती जाने वाली सावधानी की जानकारी दी गयी। साथ ही वेस्ट मैनजमेंट को लेकर जरूरी सुझाव प्रशिक्षण के दौरान दिया गया।

सही जांच नतीजे से होती इलाज में सुविधा –
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने कहा कि सरकारी अस्पतालों के प्रति लोगों के विश्वास बहाली की प्रक्रिया को मजबूती प्रदान करने के लिये विभागीय स्तर से हर स्तर पर जरूरी प्रयास किये जा रहे हैं। अस्पतालों में उपलब्ध चिकित्सकीय सुविधाओं में गुणात्मक सुधार लाने का कार्य किया जा रहा है। समय रहते किसी रोग का पता लगाने व इसका समुचित इलाज सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से निर्धारित जांच जरूरी होता है। सही जांच नतीजों के आधार पर चिकित्सक को किसी व्यक्ति के इलाज में काफी सहूलियत होती है। लैब टेक्नीशियनों का एक दिवसीय प्रशिक्षण इस लिहाज से महत्वपूर्ण है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »