Download App

गांधी जी और शास्त्री जी भारतीय जनमानस के मुखर मनीषा थे : बबलू मंडल

जदयू नेताओं ने बापू और शास्त्री की जयंती मनाई

Advertisement

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।
कचहरी रोड स्थित जदयू कार्यालय में जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल की अध्यक्षता में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 154 वीं तथा पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री की 119 वीं जयंती समारोह हर्षोल्लास के साथ मनाई गई।सर्वप्रथम उपस्थित पार्टी के नेताओं के द्वारा उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया और गांधी-शास्त्री अमर रहे व शहीदों तेरे अरमानों को मंजिल तक पहुंचायेंगे जैसे गगनभेदी नारे लगाये गये।


अपने अध्यक्षीय संबोधन में जदयू के जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल ने कहा कि गांधी जी और शास्त्री जी भारतीय जनमानस के मुखर मनीषा थे।इन्होंने अंग्रेजों के रंगभेदी दृष्टिकोण, उत्पीड़न और शोषण के विरुद्ध अहिंसक आंदोलन के नेतृत्व कर ब्रिटिस हुकूमत से भारत को मुक्त कराने में अहम भूमिका निभाई।उन्होंने कहा कि बापू का जो स्वच्छ और सशक्त ग्राम पंचायत का सपना था उसे बिहार के यशस्वी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ने एससी-एसटी ओबीसी ईबीसी मेन्यूरिटी एवं अन्य कमजोर वर्ग को आरक्षण देकर सामाजिक,आर्थिक व राजनीतिक क्षेत्र में आगे लाये और समतामूलक समाज के लिए पंचायती राज व्यवस्था को बेहतर स्वरूप दिये।वहीं लाल बहादुर शास्त्री जी ईमानदारी और सादगी के प्रतिमूर्ति थे, जिन्होंने श्वेत क्रांति व हरित क्रांति लाये। जय जवान जय किसान का नारा दिया जिससे देश के वीर जवानों और किसानों में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ।
जदयू के जिला प्रवक्ता अरविन्द मोहन तथा आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि गांधी जी और शास्त्री जी अविराम श्रम व सतत संघर्ष के प्रतीक थे।इन दिव्य महापुरुषों ने नूर-ए-उल्फ़त से नया भारत को सजाये और वे समाज में व्याप्त हर प्रकार के अंधकार, नफरत, ईर्ष्या, द्वेष, घृणा, भेदभाव एवं हिंसा के विरुद्ध प्रकाश की शाश्वत विजय के अमर प्रतीक और भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन के अग्रणी सूत्रधार थे।इनके पदचिन्हों पर चलकर ही सुरक्षित , सशक्त और प्रभावशाली राष्ट्र की परिकल्पना संभव हो सकता है।
जिला उपाध्यक्ष पंकज कुमार पटेल,निर्मला कुमारी, उमेश सिंह पटेल व कोषाध्यक्ष संदीप केडिया ने कहा कि गांधी जी में सर्वधर्म समभाव की दिव्य दृष्टि थी तो शास्त्री जी सादगी और दृढ़ता के प्रतीक थे।
युवा जदयू के जिला अध्यक्ष सावन कुमार बन्टी तथा श्रम एवं तकनीकी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष विनय सिंह रोशन ने कहा कि जहां गांधी जी सत्य अहिंसा के पुजारी थे वहीं शास्त्री जी देश से गरीबी और वेरोजगारी खत्म कर आंतरिक मजबूती के लिए कटिबद्ध रहे।
इस अवसर पर जदयू अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव धनिक लाल दास, जदयू के जिला महासचिव अंगद कुमार पटेल,गोगरी प्रखण्ड अध्यक्ष मायाराम मंडल,जयप्रकाश मौर्य ,कमल किशोर पटेल ,उपाध्यक्ष चन्द्रप्रभा देवी,गोगरी के मीडिया प्रभारी रितेश कुमार, जयजयराम कुमार, गुड्डू यादव, रणवीर कुमार राणा,संजय सिंह पटेल, रूपेश पोद्दार, रवि कुमार एवं नकुल कुमार आदि पार्टी के साथी उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: