Download App

किसानों को शोषण कर रही केन्द्र सरकार : किसान सभा

बिहार दूत न्यूज़, समस्तीपुर ।

 

बिहार राज्य किसान सभा समस्तीपुर जिला किसान कौसिल की बैठक मनोज प्रसाद सुनील की अध्यक्षता एवं राज्य महासचिव विनोद कुमार के पर्यवेक्षण में संपन्न हुई । बैठक में मुख्य रूप राष्ट्रव्यापी किसान आन्दोलन के परिप्रेक्ष्य में सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य कानून बनाने, किसानों का कर्ज माफी, रसायनिक खाद पर हो रहे काला बाजारी एवं मूल्य वृद्धि पर रोक लगाने, शहीद किसान के परिजनों को मुआवजा देने, लखीमपुर खीरी में चार किसान एक पत्रकार के हत्यारा भाजपा के केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने सहित अन्य मांगों को लेकर हो रहे आन्दोलन के परिपेक्ष्य में पटना में आयोजित 26,27,28 नवंबर को तीन दिवसीय महापड़ाव को सफलता हेतू विस्तृत योजना बनाई गई । ज़िले में किसान आन्दोलन को बढ़ाते हुए 30 हजार किसानों को सदस्यता कर संगठित करने का निर्णय लिए गए । किसान आन्दोलन को विकसित करने के लिए आम किसानों के बीच आर्थिक कोष संग्रह करने का निर्णय लिए गए।30 अक्टूबर तक सभी अंचलों की बैठक के माध्यम से संगाठनिक एवं आन्दोलनात्मक फैसले को लागू किया जाएगा । बैठक में किसान सभा जिला मंत्री सत्यनारायण सिंह विश्वनाथ महतो श्याम किशोर कमल सुरेंद्र प्रसाद सिंह लाला प्रसाद उपेंद्र राय रामसेवक राय रमाकांत यादव नविन चन्द सिंह सिया प्रसाद यादव उपेंद्र राय अवधेश मिश्रा सुखदेव राय बिंदेश्वर सिंह राजीव कुमार राय महेंद्र सिंह राम लखन राय मनोज कुमार जगदीश महतो देवेंद्र प्रसाद सिंह रामचंद्र यादव रामनंदन सिंह सहित दर्जनों साथियों ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा केंद्र की मोदी सरकार किसान मजदूर के घोर विरोधी केंद्र सरकार सिर्फ बड़े-बड़े पूंजीपति वर्गों के हित में कानून बनाकर दिन दोगुनी रात चौगुनी उसी के विकास में लगे रहते हैं ।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »