Download App

विंध्याचल के बाबा गुरु अलख के सान्निध में वाराणसी के पंडित डॉ. सुबोध मिश्र ने मां दुर्गा की प्रतिमा का किया प्राण प्रतिष्ठा

अष्टादश भूजेश्वरी मां दुर्गा की प्रतिमा सिद्धपीठ है – अचार्य राम जी मिश्रा (दिल्ली)

Advertisement

 

खगड़िया (बिहार दूत न्यूज)। समाहरणालय भवन के सामने अलख आश्रम स्थित श्री श्री 108 अष्टादश भुजेश्वरी दुर्गा मन्दिर में स्थापित स्थाई मां दुर्गा की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा विंध्याचल (यू पी) से पधारे गुरु अलख बाबा के सन्निध में वाराणसी (यू पी) से पधारे डॉ जे एन मिश्र कॉलेज, मऊ के प्राध्यापक (ज्योतिष विभाग) डॉ सुबोध कुमार मिश्र ने तंत्र मंत्र एवं वैदिक मंत्रोच्चारण से विधि पूर्वक किया।

मौके पर उपस्थित मीडिया से डॉ सुबोध ने कहा दुर्गा माई की प्रतिमा को कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा विखंडित कर दिया गया था, जिसे पुनः प्राण प्रतिष्ठा के साथ स्थापित कर जागरण में लाया गया है। गुरु अलख ने कहा 39 वर्षों बाद मैं विंध्याचल से आकर नवरात्रि पूजा कर रहा हूं। खगड़िया का यह आश्रम मेरी तपो भूमि है। माता रानी के बुलावे पर ही यहां आया हूं। दिल्ली से पधारे आचार्य राम जी मिश्र दुर्गा मंदिर परिसर में मीडिया से कहा खगड़िया में यह सिद्ध पीठ है, जहां हर इंसान की मनोकामना पूर्ण होती है। नवरात्रि पूजा का बहुत बड़ा महत्व है। उन्होंने ज़िला वासियों से अपील किया कि स्थाई माता दुर्गा की प्रतिमा का दर्शन और पूजा पाठ कर अपनी मुरादें पूरी एरेन और बाबा गुरु अलख का आशीर्वाद प्राप्त करें। मां दुर्गा की प्राण प्रतिष्ठा में डॉ सुबोध मिश्र का सहयोग करने वालों में प्रमुख थे अचार्य राम जी मिश्र और आचार्य प्रयंबक आदि। समाज सेबी डॉ अरविन्द वर्मा ने कहा माता रानी की कृपा आप लोगों पर बनी रहे इसके लिए जरुरी है नवरात्रि काल में समाहरणालय भवन, खगड़िया के सामने अष्टादश भूजेश्वरी मां दुर्गा की प्रतिमा का दर्शन।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: