Download App

आवास कर्मियों के मानदेय पुनरीक्षण हो : प्रदेश अध्यक्ष

पटना, बिहार दूत न्यूज।

पटना के गांधी मैंदान स्थित आईएमए हॉल में राज्य आवास कर्मी संघ,सगासा, बिहार के प्रदेश कार्यकारिणी कमिटी के पदाधिकारियों व जिला अध्यक्षों की संयुक्त बैठक संघ के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप कुमार सर्राफ की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।जबकि संघ के प्रदेश सचिव आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने मंच संचालन में अहम भूमिका निभाई।
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष दिलीप कुमार सर्राफ ने राज्य के विभिन्न जिलों से आये जिला अध्यक्षों व प्रदेश पदाधिकारियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमलोगों का जब संगठन मजबूत और सशक्त होगा तभी हम अपने हक की लड़ाई जोरदार तरीके से लड़ सकते हैं।उन्होंने कहा कि नौ साल के अंतराल में हम आवास कर्मियों के बदौलत सरकार पुरस्कृत भी हुई।लेकिन आसमान छूती महंगाई के दौड़ में भी अल्प मानदेय पर पीएम आवास योजना सहित कई कार्य कराये जा रहे हैं।इस स्थिति में आवास कर्मियों की दयनीय स्थिति और भविष्य दिन प्रतिदिन खराब होते जा रही है।इसलिए हम सरकार से आग्रह करते हैं कि अन्य पंचायत कर्मियों की भांति आवास कर्मियों का मानदेय पुनरीक्षण जल्द हो।
संघ के प्रदेश सचिव आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने संघ के दो-तीन गुटों में बटे आवास कर्मियों को एकजुट करने का भरसक प्रयास करते हुए कहा कि कहा कि अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए अनेक गूट नहीं बल्कि एकजुट होंने की जरूरत है ।
प्रदेश वरीय प्रवक्ता सुरेन्द्र कुमार ,प्रदेश उपाध्यक्ष शशिशेखर कुमार व मोहम्मद इजहारूल हक ने कहा कि आवास कर्मियों की भविष्य सुरक्षित व संरक्षित करने के लिए हमसब एक साथ होकर सरकार के माननीय ग्रामीण विकास मंत्री तथा आदरणीय मुख्यमंत्री महोदय से प्रतिनिधि मंडल के रूप में समय लेकर मिलें और इस बाबत साकारात्मक अनुरोध किया जाए।
बैठक में दो गूट क्रमशः दिलीप कुमार सर्राफ और धर्मेन्द्र यादव एक साथ हो गये ।साथ ही मिलजुल कर आवास कर्मियों के हक अधिकार के लिए संघर्ष करने पर बल दिया गया।
बैठक में धर्मेन्द्र कुमार यादव, राकेश कुमार(पुर्णियां),मोहम्मद खुर्शीद आलम, मनीष कुमार, संतोष कुमार सिंह,कृष्णानंद सरस्वती,नवनीत कुमार, संतोष कुमार, विकास चन्द्र, राजकुमार, निशांत कुमार,सुमित कुमार,राकेश यादव,दुर्गा प्रसाद,ठाकुर जीतेन्द्र सिंह आदि दर्जनों की संख्या में जिला अध्यक्ष एवं प्रदेश कमिटी के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »