Download App

नई आरक्षण नीति लागू होंने से आबादी के मुताबिक भागीदारी होगा संभव:बबलू मंडल

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।

बिहार में बढ़ाये गए आरक्षण का दायरा 75 प्रतिशत लागू होंने से अतिपिछड़ा, पिछड़ा, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति एवं अन्य कमजोर वर्ग विकास के पैमाने को लेकर नई उड़ान भर सकेंगे।उक्त बातें जदयू के जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा।
उन्होंने कहा कि बिहार के यशस्वी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जाति आधारित गणना कराने के सार्थकता का ही परिणाम है कि आज बिहार में नई आरक्षण नीति लागू हुई।जबकि जाति आधारित गणना कार्य को अवरुद्ध करने में भाजपा कोई कसर नही छोड़ी थी;जो सर्वविदित है।चुकि भाजपा सदैव अतिपिछड़ा, पिछड़ा, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के कट्टर दुश्मन रही है।इन वर्गों को भाजपा आर्थिक, सामाजिक व राजनीतिक रूप से कभी भी मजबूत देखना नहीं चाहती है।
उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति 20, अनुसूचित जनजाति 02,अत्यंत पिछड़ा 25, पिछड़ा 18 एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (इडब्लूएस) को 10 प्रतिशत आरक्षण बढ़ाकर जो लागू किया गया है इससे सरकारी नौकरी एवं शैक्षणिक संस्थानों में नामांकन आदि सरकारी लाभ नई आरक्षण नीति के तहत मिलेगा और इससे जिसकी जितनी आबादी उसकी उतनी भागीदारी संभव हो पायेगा।आदरणीय नेता लोकप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हमारे देश के महापुरूष डॉक्टर अम्बेडकर, लोहिया, जेपी,जगदेव व कर्पूरी ठाकुर के अधूरे सपने को साकार कर दुनिया के लिए नजीर बने हैं ।इसके लिए हम खगड़िया जिला जनता दल यू परिवार की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार सरकार के प्रति कोटि कोटि आभार व्यक्त करते हुए साधुवाद देते हैं ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: