Download App

मुस्लिम तुष्टिकरण में अंधी सरकार को वापस लेना होगा फैसला , सड़क पर उतरेंगे लोग: सोनू अग्रवाल

बिहार दूत न्यूज, खगड़िया।

Advertisement

हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा सेक्युलर मिडिया प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष सोनू अग्रवाल प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा सरकार ने धर्मनिरपेक्षता की धज्जी उड़ा दी। कुर्सी कुमार कहें या तुष्टीकरण के सरदार… हिंदू त्योहारों की छुट्टियां काटकर मुस्लिमों को एक बार फिर से चाचा-भतीजे की सरकार का हिंदू विरोधी चेहरा उजागर हुआ।

वहीं अग्रवाल ने कहा एक तरफ स्कूलों में मुस्लिम पर्व की छुट्टी बढ़ाई जा रही है, वहीं हिंदू त्योहारों की छुट्टियां खत्म की जा रही है। लानत है ऐसे वोटबैंक के लिए सनातन धर्म की खिलाफत करने वाले सरकार की।
सोनू अग्रवाल ने कहा की नीतीश सरकार बहुसंखयक हिंदुओं को जातियों में बाँट कर और बेशर्म तुष्टिकरण के जरिये मुस्लिम वोटों को एकजुट कर आगामी लोकसभा चुनाव जीतने की जो कोशिश कर रही है, वह कभी सफल नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव पर नजर रखते हुए बिहार सरकार ने स्कूलों में 2024 की छुट्टियों का ऐसा कैलेंडर जारी किया, जिसमें हिंदू पर्व-त्योहारों की छुट्टियाँ काट कर मुस्लिम त्योहारों की छुट्टियाँ बढायी गईं।

सोनू अग्रवाल ने कहा की सनातन-धर्म विरोधी और मुस्लिम -तुष्टिकरण की हद करने वाला फैसला से सनातन संस्कृति बिहार में सुरक्षित नहीं हैं तुष्टिकरण करने की निति को बिहार सरकार आम जनता सबक सिखा कर रहेगी।

सोनू अग्रवाल ने कहा कि हिंदू भावनाओं को घात पहुंचाने वाला यह निर्णय जनता स्वीकार कदापि नहीं करेंगी। बिहार के लोग चुप नहीं रहेंगे, सनातन संस्कृति और सम्मान बचाने सड़कों पर उतरेंगे।’

सोनू अग्रवाल ने कहा कि इस वर्ष जब शिक्षा विभाग ने रक्षा बंधन की छुट्टी रद की और दीवाली-छठ के समय शिक्षकों को प्रशिक्षण पर भेजने का हिंदू-विरोधी आदेश जारी किया था, तब उसे व्यापक विरोध के दबाव में दोनों आदेश वापस लेने पड़े थे। सरकार को फिर से अपने फैसले को वापस लेना पड़ेगा।यह पुरे बिहार का अपमान है

उन्होंने कहा कि शिवरात्रि, रामनवमी, श्रावण की अंतिम सोमवारी, तीज, जिउतिया, जन्माष्टमी, अनंत चतुर्दशी, भैया दूज, गोवर्धन पूजा, गुरुनानक जयंती, कार्तिक पूर्णिमा के अवकाश को समाप्त कर दिया गया है. होली के अवकाश को तीन से दो, दुर्गापूजा की छुट्टी छह से घटा कर तीन दिन और दीवाली व छठ की छुट्टी को आठ से घटा कर चार दिन कर दिया गया है, जबकि ईद, बकरीद तथा मुहर्रम की छुट्टियाँ बढ़ा दी गईं हैं।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: