Download App

बाबा साहब भारत के देवदूत थे: शास्त्री

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।
बलुआही स्थित अम्बेडकर भवन में भारतीय संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर की 67 वीं महापरिनिर्वाण दिवस अम्बेडकर भवन निर्माण समिति के संरक्षक सेवा निवृत प्रधानाध्यापक रामलखन प्रसाद पासवान की अध्यक्षता में मनायी गई।सर्वप्रथम उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया गया।
मौके पर रामलखन प्रसाद पासवान तथा दलित युवा संग्राम परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि बाबा साहब वास्तव में भारत के लिए देवदूत बनकर आये थे।वे सबके कल्याण के लिए संविधान में अधिकार दिये हैं।आज चंद लोगों के द्वारा संविधान बदलने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है।इसलिए देश के बहुसंख्यक वर्ग के लोगों को संगठित होकर एकजूटता का परिचय देना होगा तभी संविधान सुरक्षित रह पायेगा ।हम और हमारा मुल्क सुरक्षित और विकसित हो सकता है।
पोस्टल सोसाइटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन डॉ0 अरविन्द कुमार वर्मा तथा अम्बेडकर भवन निर्माण समिति के सचिव चन्द्रशेखर मंडल ने कहा कि बाबा साहब नहीं होते तो हमारा देश इतना विकसित नहीं हो पाता।
इस अवसर पर समिति के उपाध्यक्ष महेश्वर राम,बिससूत्री सदस्य चन्द्रेश्वरी राम,नीलम वर्मा, वीणा पासवान,सेवा निवृत्त शिक्षक सुखनन्दन पासवान,शिक्षक प्रकाश पासवान, संजय पासवान अधिवक्ता,डॉ धीरेन्द्र यादव,शिक्षक धर्मेन्द्र कुमार पासवान,सेवा निवृत्त क्लर्क रेणू कुमारी एवं रामसुचित पासवान आदि दर्जनों गणमान्य लोग उपस्थित थे ।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »