Download App

महागठबंधन सरकार के जातीय गणना और 75 प्रतिशत आरक्षण व्यवस्था के बाद दबाव में केन्द्र सरकार ने जननायक कर्पूरी ठाकुर को दिया भारत रत्न : तेजस्वी प्रसाद यादव

शोषित, वंचित, पिछड़े, अतिपिछड़े और अल्पसंख्यक वर्ग को उसका हक और अधिकार दिलाने के लिए हर साजिशों का मुकाबला मिलकर करेंगे: लालू प्रसाद

Advertisement

 

पटना, बिहार दूत न्यूज।
आज राष्ट्रीय जनता दल की ओर से पटना के श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में जननायक कर्पूरी ठाकुर जनशताब्दी समारोह प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की अध्यक्षता में मनाया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश प्रधान महासचिव रणविजय साहू ने की।


इस अवसर पर उनके तैल चित्र पर राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, बिहार सरकार के मंत्री श्री तेज प्रताप यादव, विधान परिषद के उप सभापति डाॅ0 रामचन्दू पूर्वे, श्रीमती अनीता देवी, इसराइल मंसूरी, श्री आलोक कुमार मेहता, श्री सुरेन्द्र राम, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवानंद तिवारी, उदय नारायण चैधरी, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी, राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता प्रोफेसर मनोज झा, सांसद अशफाक करीम, राष्ट्रीय महासचिव श्री भोला यादव, श्री देवेंद्र प्रसाद यादव, श्री श्याम रजक, श्री जयप्रकाश यादव, श्री बीनू यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री अशोक सिंह, श्री वृषिण पटेल, डॉ तनवीर हसन, शिवचंद्र राम, मुख्य प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव सहित सभी मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, विधान पार्षदों, पूर्व विधायकों, पूर्व विधान पार्षदों एवं पदाधिकारियों ने जननायक कर्पूरी ठाकुर के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर अपने संबोधन में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद ने कहा कि आज के दिन जननायक कर्पूरी ठाकुर के जन्मशताब्दी के अवसर पर हम उनके विचार, गुनों और योगदान के याद को लेकर चर्चा कर रहे हैं।


इन्होंने कर्पूरी जी के साथ बिताए गए संस्मरण को याद करते हुए कहा कि कर्पूरी जी उनके गोद में ही बीमार होने के बाद पी एम सी एच पहुंचे उस समय साथ में उनके दोनों पुत्र श्री रामनाथ ठाकुर एवं डॉ वीरेंद्र ठाकुर भी साथ में थे। उनके पास गाड़ी नहीं था देवीलाल जी ने जो गाड़ी दी थी, उसी गाड़ी से हम सभी उन्हें लेकर जैसे ही पीएमसीएच गेट इमरजेंसी वार्ड के पास पहुंचे तो डॉक्टर ने देखते ही कहा कि कर्पूरी जी अब नहीं रहे। जैसे ही ये बातें लोगों के बीच पहुंची गरीब, शोषित ,वंचित रोने लगे और उनके सादगी तथा ईमानदारी की सब लोग चर्चा करते रहे। पटना के बांस घाट में उनके अंतिम संस्कार के समय हम लोगों ने कहा था कर्पूरी तेरे अरमानों को दिल्ली तक पहुंचाएंगे और उसे विचार और अरमान को लेकर हम लोगों ने केंद्र में सत्ता मिलते ही गरीबों पिछड़ों अतिपिछड़ों के लिए वीपी सिंह के शासनकाल में मंडल कमीशन रिपोर्ट लागू किया। उस समय मंडल कमीशन रिपोर्ट लागू होते ही कोहराम मच गया और और लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। उस समय भाजपा ने मंडल कमीशन रिपोर्ट लागू होने के बाद कमंडल की राजनीति शुरू की और रथ यात्रा निकाला सबको पता है कि जब भी पिछड़ों को आकर अधिकार देने की बात होती है भाजपा इसका विरोध करता है।
इन्होंने आगे कहा कि नीतीश और तेजस्वी मिलकर बिहार में जातीय गणना कराई और आंकड़ों के आधार पर आरक्षण की व्यवस्था को 75ः किया । बिहार में लगातार नौजवानों को रोजगार दिए जा रहे हैं काम हो रहे हैं लेकिन भाजपा हमेशा इसके खिलाफ गलतफहमी पैदा करती है लेकिन हम सभी इस बात के लिए संकल्पित हैं कि समाज के शोषित ,वंचित, पिछड़े, अति पिछड़े और अल्पसंख्यक वर्ग को उसका हक और अधिकार देंगे चाहे इसके लिए कोई कितना भी साजिश कर ले सबको पता है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर का जो योगदान था उन्हें भारत रत्न मिलना ही चाहिए था और इसके लिए जो हम लोगों ने हमेशा संघर्ष और आवाज बुलंद की या बात किसी से छुपी नहीं है की नीतीश तेजस्वी ने हमेशा बिहार के लोगों के लिए काम किया हम सभी को मजबूती के साथ मुकाबला करना है और आने वाले चुनाव में भाजपा को पटक देना है। इन्होंने कहा कि जिस तरह से जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न दिया गया है ,उसी तरह से डॉ राम मनोहर लोहिया और काशीराम जी को भी भारत रत्न मिलना चाहिए, तेजस्वी ने सही कहा है। इन दोनो के योगदान से भारत में समाजवादी विचारधारा को मजबूती मिली, अति पिछड़ा और दलित समाज को हर स्तर पर ऊंचा उठाने का काम किया।
उपमुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपने भाषण की शुरुआत जननायक कर्पूरी ठाकुर अमर रहे के नारों से शुरू किया।
उन्होंने कहा कि आज के दिन कर्पूरी जी को याद याद करने का मतलब है उनके संघर्ष और विचार को मजबूत करने के लिए हम सभी को उनके विचारों के आधार पर लड़ाई लड़नी होगी। इन्होंने जननायक कर्पूरी जी को भारत रत्न दिए जाने पर चर्चा करते हुए कहा कि इसके लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित हम सभी लगातार मांग कर रहे थे और शोषित वंचित की पैरवी करने वाले कर्पूरी जी को भारत रत्न मिलना बिहार वासियों के लिए गौरव की बात है और इसके लिए समाजवादी विचारधारा के जानने वालों को धन्यवाद देते हैं।
तेजस्वी ने आगे कहा कि लालू जी ने कर्पूरी जी के काम को आगे बढ़ाया उसे जमाने में जब खटिया पर बैठने नहीं दिया जाता था और कुआं से पानी नहीं लेने दिया जाता था तब लाल जी ने कर्पूरी जी के विचार को अपनाते हुए लोगों को जवान दी और लोगों को बिना किसी डर से जीने का अधिकार दिया। मैं सौभाग्यशाली हूं कि लालू जी के लालन पालन में आगे बढ़ा आप लोगों के आशीर्वाद समर्थन से आज मैं बिहार का उपमुख्यमंत्री हूं। लालू जी ने कभी सांप्रदायिक शक्तियों के सामने झुकना पसंद नहीं किया चाहे इनका जितना भी संकट और तूफान तथा झंझावात का सामना करना पड़ा हो वह अपने विचार से नहीं डिगे। समाजवादी परिवार के लोगों ने मिलकर महागठबंधन सरकार बनाए और जिसने जाति आधारित गणना कराकर आंकड़ों के आधार पर 75ः आरक्षण की व्यवस्था की। जहां कर्पूरी जी के समय अति पिछड़ों को 12ः आरक्षण की व्यवस्था थी उसे लालू जी ने अपने शासनकाल में 14ः किया और मेरी माता राबड़ी देवी जी के शासनकाल में 18ः और अब महागठबंधन सरकार ने उसको आगे बढ़कर 25ः किया।
उन्होंने आगे कहा कि जो वादा किया गया था महागठबंधन सरकार बनने के बाद उसे पूरा किया। आज देश में अमन चैन को खराब करने का लगातार प्रयास चल रहा है, और असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाया जा रहा है। जो लोग धर्म और जाति की राजनीति करते हैं उनको समझना चाहिए कि हम गरीबों शोषितों, वंचितों पिछड़ों ,अति पिछड़े को उसका हक और अधिकार दे रहे हैं। कर्पूरी जी को जो भारत रत्न मिला वह हम लोगों की जीत है क्योंकि जातीय गणना के बाद भाजपा पर दबाव था जिसका परिणाम है कर्पूरी जी को भारत रत्न दिया जाना। आज बीजेपी को लहर रहा होगा कि पिछड़ों , अति पिछड़ों , दलित और आदिवासियों तथा अल्पसंख्यकों को उसका हक और अधिकार कैसे मिल रहा है। चाहे कुछ भी हो आप लोगों ने लालू जी का साथ नहीं छोड़ा बल्कि लाल जी को ताकत दी आज आप लोग दोनों हाथ उठाकर आश्वासन दे की लाल जी के हाथ को मजबूती प्रदान करने के लिए हम सब साथ खड़े रहेंगे। जब लालू जी नहीं झुके तो तेजस्वी भी नहीं झुकेगा आप सब अपने आप को लालू और तेजस्वी मानकर गरीबों से तो अति पिछड़ों अल्पसंख्यकों को जोड़ने का काम करेंगे और आज यह संकल्प लेने का समय है क्योंकि कर्पूरी जी के विचारों को मजबूती प्रदान करने के लिए लालू जी ने हमेशा उनके विचारों के आधार पर काम किया है और उनके बचे हुए काम को आगे बढ़ाया है।
राजद के प्रदेश प्रवक्ता एजाज अहमद ने बताया कि कार्यक्रम का उद्घाटन राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद, उप मुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव, प्रदेश अध्यक्ष श्री जगदानंद सिंह सहित सभी नेताओं की उपस्थिति में दीप प्रज्वलित कर किया गया।
इन्होंने आगे बताया कि अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्री अरविंद कुमार सहनी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद को शाॅल, बुके और बाबासाहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का चित्र एवं उप मुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव को शाॅल, बुके और जननायक कर्पूरी ठाकुर का चित्र देकर स्वागत किया।
साथ ही इस अवसर पर राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद, उपमुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री जगदानन्द सिंह ने राष्ट्रकवि दिनकर जी की कविता का लोकार्पण किया। इसके बाद उनकी कविता को मुख्यालय प्रभारी मुकुंद सिंह ने पढ़ा।
इस अवसर पर मंत्री ललित यादव, डॉ रामानंद यादव, कुमार सर्वजीत, डॉ शमीम अहमद, सुरेंद्र राम,समीर महासेठ, जितेंद्र राय, विधायक भाई वीरेंद्र, भरत बिन्द, भारत भूषण मंडल, रामवृक्ष सदा, पूर्व सांसद विजय कृष्ण, सरफराज आलम, चितरंजन गगन, फैयाज आलम कमाल, डाॅ0 एज्या यादव, आजाद गांधी, मदन शर्मा, डाॅ0 अनवर आलम, खुर्शीद आलम सिद्दीकी,देवकिशुन ठाकुर, दीनानाथ सिंह यादव, महताब आलम, डाॅ0 उर्मिला ठाकुर, रीतू जायसवाल, महेन्द्र प्रसाद विद्यार्थी, उमेश पंडित, फुल हसन अंसारी, कुमर राय, श्रीनारायण महतो, उमेश पंडित, डाॅ0 पे्रम कुमार गुप्ता, सिपाही लाल महतो, देव कुमार चैरसिया, फुल हसन अंसारी, राजेश पाल, विपिन कुमार महतो, भोला साह तुरहा, मृत्युंजय तिवारी, गोपाल प्रसाद गुप्ता, सारिका पासवान, भाई अरूण कुमार, बल्ली यादव, निराला यादव, संजय यादव, प्रमोद कुमार राम, ई0 अशोक यादव, अरूण कुमार यादव, अभिषेक सिंह, गुलाम रब्बानी, गोपाल कृष्ण चंदन यादव, विजय कुमार यादव, के0 डी0 यादव, संजीव राय, संटू कुमार यादव, प्रमोद कुमार सिन्हा, जेम्स कुमार यादव, सरदार रंजीत सिंह, गगन कुमार, शिवेन्द्र कुमार तांती, गणेश कुमार यादव, बेलाल खां, शेखर यादव, उपेन्द्र चन्द्रवंशी, ओम प्रकाश चैटाला, बलराम चैधरी, सलाउदीन मंसुरी, मो0 अफरोज आलम, विक्की यादव, अमरजीत यादव, कृष्णा ठाकुर, रतन यादव, शैलेश यादव, मनोज यादव, मुमताज आलम, सावन गुप्ता, ओमप्रकाश पासवान, रीया कुमारी, अर्चना यादव, मो0 आसिफ, मो0 अर्स सहित हजारों की संख्या में विभिन्न जिला से नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: