Download App

ललित नारायण विश्व विद्यालय में हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर संगोष्ठी कार्यक्रम आयोजित

समस्तीपुर, बिहार दूत न्यूज।

हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर ललित नारायण मिथिला विश्विद्यालय दरभंगा के सभागार में भारतीय लोकतंत्र एवं पत्रकारिता विषय पर एक संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ शिक्षक डॉक्टर प्रीतम कुमार ने कहा कि मीडिया को चौथा स्तंभ माना जाता है। कहते हैं कि समाज को आइना दिखाने का काम पत्रकार करते हैं। पत्रकारिता के मांध्यम से देश और समाज के मुद्दों, घटनाओं और समाचारों को देशभर के लोगों तक पहुंचाया जाता है और उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराने की कोशिश की जाती है। इस पत्रकारिता को बढ़ावा देने और सराहने के लिए हीं हर साल 30 मई के दिन हिंदी पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि साल 1826 में 30 मई के दिन ही हिन्दी का प्रथम पेपर की छपाई हुई थी। इधर हिंदी विभागाध्यक्ष प्रोo उमेश कुमार ने संगोष्ठी कार्यक्रम में पत्रकारों के हित में बताया कि पत्रकारिता करना आसान नहीं है। उन्होंने कहा की पत्रकार घर में भोजन कर रहा होता है उसी समय जानकारी मिलती है की कही बड़ी घटना हो गई है, पत्रकार घटना की सूचना प्राप्त होते ही भोजन छोड़कर खबर कवरेज करने के लिए निकल पड़ते हैं ताकि उनका खबर छूट न जाय। संगोष्ठी के अवसर पर आयुष कुमार, गोविंद माधव, संजय कुमार, धर्म विजय प्रसाद गुप्ता, आनंद राम, गोविंद कुमार झा, सुशील कुमार झा, रंजित कुमार शर्मा, एजाज अहमद आदि मौजूद थे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »