Download App

हसनपुर: आगामी 2025 बिहार विधानसभा चुनाव में दावेदारी को लेकर भाजपा जोर शोर से उठा रहे हैं मांग..

संजय भारती, समस्तीपुर।

समस्तीपुर : समस्तीपुर जिलान्तर्गत 140 हसनपुर विधानसभा में आगामी 2025 बिहार विधानसभा चुनाव के लिए विभिन्न घटक दल के नेताओं ने चहलकदमी आरम्भ कर चुके हैं। आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से एनडीए घटक दलों के नेता व कार्यकर्ताओं ने हसनपुर विधानसभा सीट को लेकर अभी से आवाज बुलंद करना शुरू कर दिया है।

जिसमें एनडीए घटक दल के भाजपा के नेता व कार्यकर्ताओं ने गठबंधन के शीर्ष नेतृत्व का ध्यान आकर्षित करने के लिए अभी से ही हसनपुर विधानसभा पर भाजपा के उम्मीदवारी पेश करने की मांग को बुलंद कर रहे हैं। स्थानीय भाजपा के नेता व कार्यकर्ताओं ने एनडीए के शीर्ष नेतृत्व से मांग करते हुए कहते हैं कि भाजपा स्थापना काल से ही हसनपुर विधानसभा में गठबंधन के प्रति समर्पित रहा है और प्रत्येक चुनाव में हसनपुर विधानसभा से भाजपा परिवार गठबंधन के उम्मीदवारों को जीताकर बिहार विधानसभा व संसद भवन भेजने का काम किया है। लेकिन आज तक भाजपा नेतृत्व को हसनपुर विधानसभा में कोई लाभ नहीं मिला है । स्थानीय भाजपा के लोगों ने एनडीए घटक दलों के शीर्ष नेतृत्व से अपील किया है कि हसनपुर विधानसभा के गाँव और कसबे के धरातल पर चुनाव पूर्व सर्वे करें कि एनडीए गठबंधन के प्रति जनता का किस ओर झुकाव है, तब जाकर निर्णय लें कि हसनपुर विधानसभा में किन घटक दलों के उम्मीदवार होगें। हसनपुर विधानसभा में आगामी 2025 विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों को लिया जाए तो एनडीए घटक दलों में से भाजपा की ओर से हसनपुर प्रखण्ड के पूर्व प्रखण्ड प्रमुख सह वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाषचंद्र यादव एवं पूर्व जिला परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष सुनीता सिंह का नाम प्रमुखता से लिया जाता है । तो जदयू की ओर से पूर्व बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष सह केबिनेट मंत्री व हसनपुर विधानसभा से सात बार के विधायक रहे गजेन्द्र प्रसाद हिमांशु के पुत्रवधु मीनाक्षी हिमांशु तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले हसनपुर विधानसभा के वरिष्ठ जदयू नेता विमल कुमार जितेन्द्र उर्फ जितेन्द्र सिंह तो जदयू के दो बार के विधायक रहे राजकुमार राय का नाम प्रमुख है । तो लोजपा (रा) के पार्टी से अधिवक्ता रंजीत कुमार यादव का नाम हसनपुर विधानसभा में जोर शोर से चल रहा है। अभी तो बिहार विधानसभा चुनाव का समय एक साल से भी ज्यादा है, अब देखना है कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व हसनपुर विधानसभा को किस रूप में लेते हैं। वैसे एनडीए घटक दलों के कार्यकर्ताओं की माने तो आगामी 2025 के बिहार विधानसभा चुनाव में हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से एनडीए घटक दल में से नये चेहरे की भी मांग कर रहे हैं।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »