Download App

थाने में तैनात दारोगा के आवास से शराब की बोतल के साथ किया गिरफ्तार..

संजय भारती , समस्तीपुर समस्तीपुर

Advertisement

जिला के विभूतिपुर थाना में तैनात दारोगा अरुण कुमार पटेल को अंग्रेजी शराब की बोतलें के साथ उनके किराए के मकान से विभूतिपुर थानाध्यक्ष चन्द्रकान्त गौरी ने दारोगा को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा । मालूम हो कि बिहार सरकार के आदेशानुसार सम्पूर्ण बिहार में पूर्ण शराब बंदी लागू है । जिसको लेकर बिहार में शराब की बिक्री , उत्पादन एवं सेवन करने पर रोक लगी हुई है । सरकार ने इसे सख्ती से लागू करवाने के लिए बिहार पुलिस एवं उत्पाद विभाग को जिम्मेवारी सौंपे हुए है । जिसको लेकर बिहार पुलिस सख्त दिखते हैं । वहीं कुछ पुलिस वाले शराब का सेवन कर नशे में धूत मिले तो आप क्या कहेंगे । कुछ पुलिस वाले के गलत हरकतों से पुलिस डिपार्टमेंट पर अंगुली उठाना ठीक नहीं होगा । कुछ ऐसा ही वारदात समस्तीपुर जिला के विभूतिपुर थाने मे दिखने को मिला है जहां अरूण कुमार पटेल जैसे पुलिसकर्मी के कारण लोग ईमानदार पुलिसकर्मियों पर भी अंगुली उठाने लगते हैं । ज्ञात हो कि समस्तीपुर पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढ़िल्लो एवं रोसड़ा एसडीपीओ एस अख्तर के निर्देश पर विभूतिपुर थानाध्यक्ष चन्द्रकान्त गौरी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए विभूतिपुर थाना में तैनात एएसआई अरुण कुमार पटेल के किराए के आवास पर शनिवार की देर रात छापेमारी कर एक सीलबंद 750 ml के ब्लू इम्पीरियल शराब की बोतल के साथ गिरफ्तार किया । एसपी मानवजीत सिंह ढ़िल्लो को गुप्त सूचना मिली कि विभूतिपुर थाने मे तैनात सहायक अवर निरीक्षक अरूण कुमार पटेल का थाना क्षेत्र में शराब माफियाओं के साथ सांठगांठ है और वे खुद शराब का सेवन करते हैं । जिसको लेकर थानाध्यक्ष चन्द्रकान्त गौरी ने छापेमारी के क्रम में सहायक अवर निरीक्षक अरूण कुमार पटेल के आवास से अंग्रेजी शराब की बोतलें के साथ गिरफ्तार किया । जिसे एसपी के निर्देश पर विभूतिपुर थाने के हाजत में बंद कर दारोगा के बिरूद्ध विभागीय कार्रवाई की बात कही गई । जिसके बाद जिला भर के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया । थानाध्यक्ष चन्द्रकान्त गौरी ने स्वयं के बयान पर विभूतिपुर थाना में कांड दर्ज कर आरोपित एएसआई को जेल भेज दिया ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: