Download App

समस्तीपुर में किरासन तेल उठाव कर वितरण नहीं करने का गोरखधंधा वर्षों से है जारी : सुरेन्द्र

संजय भारती , समस्तीपुर

Advertisement

समस्तीपुर जिला के ताजपुर ठेला भेंडर द्वारा कई वर्षों से करीब 8 ठेला मिट्टी तेल का उठाव किया जा रहा है । जिसे किरासन तेल भेंडर जरूरतमंदों के बीच वितरण नहीं कर कालाबाजारियों के हाथों बेचकर मोटा रकम कमाने का खेल करते आ रहे हैं ।

जनवरी से ताजपुर नगर परिषद के उपभोक्ताओं को राशन डीलर द्वारा मिलने वाला तेल बंद कर दिए जाने के बाद तेल संकट को लेकर अनुमंडल कार्यालय में छानबीन करने पर मामले का खुलासा करते हुए भाकपा माले प्रखण्ड सचिव सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने प्रखण्ड आपूर्ति पदाधिकारी को लिखित शिकायती आवेदन देकर शुक्रवार को ऐसे ठेला भेंडर का लाइसेंस रद्द करने को लेकर अनुमंडल आपूर्ति अधिकारी से मार्गदर्शन मांगकर कारबाई करने को कहा है । आवेदन का प्रतिलिपि अनुमंडल आपूर्ति पदाधिकारी को भी भेजने की बात माले नेता ने बताया है । उन्होंने कहा है कि ठेला भेंडर द्वारा दर्शाया गया मिट्टी तेल वितरण स्थल का माले टीम ने स्थानीय उपभोक्ता नागरिको से पूछकर तहकीकात की है । तहकीकात के दौरान तमाम लोगों ने एक स्वर में मिट्टी तेल वितरण होने से इनकार किया है । ऐसे ही किरासन तेल भेंडर द्वारा लूट-खसोट का मामला समस्तीपुर जिला के अन्य प्रखंडों मे भी है । अगर इसका आकलन किया जाये तो जिले भर मे करोड़ों रुपये का गोरखधंधा पकड़ा जाएगा । प्रतिनिधिमंडल में शामिल किसान नेता ब्रहमदेव प्रसाद सिंह ने कहा है कि किरासन तेल का उठाव कर जनता के बीच नहीं बांटने का मामला गंभीर है । उन्होंने इस पर चुप्पी साधे रहने वाले अधिकारियों पर जांच बैठाने की मांग करते हुए इस गोरखधंधे का तीखी आलोचना की है । श्री सिंह ने कहा है कि आज दलित- गरीब अंधेरे में खाना बनाने , खाने , सोने को मजबूर है । गरीब के बच्चों का पढ़ाई बाधित हो रही है । अनुमंडल आपूर्ति पदाधिकारी ऐसे ठेला भेंडरों को चिन्हित कर उनके लाईसेंस को रद्द करे , वैकल्पिक व्यवस्था कर शहरी क्षेत्र में जरुरतमंदों के बीच किरासन तेल का वितरण करे अन्यथा 4 मार्च से एमओ के पूतला दहन एवं आपूर्ति पदाधिकारी कार्यालय का घेराव कर आंदोलन का शंखनाद किया जाएगा ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: