Download App

नीतीश के शासन काल में मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड और अब गायघाट गृह कांड से पूरा बिहार हुआ है शर्मसार: तेजस्वी प्रसाद यादव

पटना, बिहार दूत न्यूज।
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बिहार प्रदेश राजद कार्यालय में राजद महिला प्रकोष्ठ की ओर से सत्ता में महिलाओं की समुचित भागीदारी
पर विचार गोष्ठी आयोजित किया गया।
जिसकी अध्यक्षता राजद महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष उर्मिला ठाकुर और संचालन प्रदेश उपाध्यक्ष
महिला प्रकोष्ठ अनीता भारती ने की।
इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी,
महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्षा डाॅ0 कांति सिंह,
राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक, प्रदेश उपाध्यक्ष वृषिण पटेल, डाॅ0 तनवीर हसन, सुरेश पासवान, शिवचन्द्र राम, पूर्व विधायक प्रेमा, शक्ति सिंह यादव, आजाद गांधी, प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, एजाज अहमद, विधायक अनीता देवी, वीणा देवी, किरण
देवी, रेखा पासवान, मंजू अग्रवाल, कार्यालय सचिव
चन्देश्वर प्रसाद सिंह, जे0 एन0 यू0 की नेत्री प्रियंका भारती सहित महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश पदाधिकारी एवं जिलाध्यक्ष उपस्थित थीं।
इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव
ने कहा कि आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सभी माता-बहनों को दिल से महिला दिवस की बधाई देता हूं। और इस अवसर पर मैंने आज विधानसभा में खास तौर से महिलाओं को ही राजद की ओर से बोलने का समय दिया है। आज
कृषि और सिंचाई विभाग पर चर्चा है, इस अवसर पर मैं वहां पर उपस्थित रहकर उन सभी की बातों को सुनना चाहता हूं।
इन्होंने आगे कहा कि चाहे कोई भी क्षेत्र हो महिलाएं हमेशा आगे रहती हैं। हमारी बहने जहां फाइटर प्लेन चलाती हैं वहीं हर क्षेत्र में उसी
मुस्तैदी से काम करती हैं। राजनीति के क्षेत्र में भी अब महिलाएं बढ़-चढ़कर भाग ले रही हैं यह अच्छा संकेत है। हमारी माता श्रीमती राबड़ी देवी बिहार
की पहली मुख्यमंत्री बनी यह हमारे लिए और बिहार के लिए सौभाग्य की बात है। हमारी सात बहने हैं और सभी का स्नेह और प्यार मिलता है। महिलाओं को
जो भी काम में लगा दिया जाता है वह चीनी और नमक की तरह घुल कर पूरी मुस्तैदी के साथ काम को अंजाम देती हैं।
इन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल महिला प्रकोष्ठ की और से पार्टी को मजबूत करने का अभियान चलाने की आवश्यकता है और इसके लिए जो सदस्यता
अभियान चलाया जा रहा है उसमें हर वर्ग की महिलाओं को जोड़ने की भी आवश्यकता है खास तौर से वंचित, कमेरे, गरीब, दलित और अति पिछड़ा समाज के साथ-साथ पार्टी के ए टू जेड के सिद्धांत के अनुसार सभी महिलाओं को जोड़ने की आवश्यकता है। इन्होंने कहा कि जो पार्टी के लिए महिलाएं काम कर रही हैं उन्हें पार्टी संगठन में और महत्वपूर्ण पदों पर समय आने पर प्रतिनिधित्व दिया जाएगा।
गत विधानसभा चुनाव में हमने जितने महिलाओं को
टिकट दिया सभी जीतकर विधानसभा पहुंची। और उनका प्रतिनिधित्व विधानसभा में दिख रहा है।
श्री तेजस्वी ने आगे कहा कि बिहार में महिलाओं पर अत्याचार तथा शोषण की घटनाओं में वृद्धि हुई है और नीतीश के शासन काल में मुजफ्फरपुर बालिका
गृह कांड और अब गायघाट गृह कांड से पूरा बिहार शर्मसार हुआ है। इन घटनाओं
को लेकर हमारी पार्टी ने पटना से लेकर दिल्ली तक आंदोलन किया और इस मामले
में जो भी लिप्त रहे हैं उनको अंजाम तक पहुंचाने में सफल भी रहे हैं। लेकिन अभी भी उन बड़े लोगों को सरकार बचाने में लगी हुई है जिनके संबंध
में बालिकाओं ने बताने का काम किया था ऐसे लोगों को भी अंजाम तक पहुंचाने के लिए राजद कृत संकल्पित है। इन्होंने जनता के सुख-दुख में महिलाओं को गरीबों वंचितों के हक और अधिकार की लड़ाई और उन्हें मुख्यधारा में लाने का
कार्य महिला संगठन की ओर से किया जाना चाहिए, तो इससे पार्टी को भी मजबूती होगी और महिलाओं को सशक्त बनाने का पार्टी का जो संकल्प है उसको
भी मजबूती मिलेगी।
इस अवसर पर तेजस्वी जी ने महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ श्रीकांत सिंह को जन्मदिन की बधाई केक काटकर सामुहिक
रूप से दी।

Advertisement


इस अवसर पर राजद महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश महासचिव बुसरा शाहीन, रागिनी
रानी, चन्द्रावती देवी, रूबी कुमारी दास, उर्मिला सिंह, रामदुलारी देवी, हीरामणी तांती, काजल कुमारी, विमला भारती, सुचीत्रा चौधरी, प्रो0 राजमणि,
उर्मिला यादव, मुन्नी रजक सहित सैंकड़ों की संख्या में राजद महिला प्रकोष्ठ की पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष प्रमख कार्यकत्र्ता उपस्थित थी।

 

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: