Download App

महिला की समस्या की समाधान को लेकर ऐपवा ने निकाला जुलूस..

संजय भारती , समस्तीपुर

Advertisement

समस्तीपुर : अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोशियेशन (ऐपवा) के बैनर तले महिलाओं ने जुलूस निकालकर युद्ध नहीं शांति- रोजी- रोटी- बराबरी की मांग की । अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर मंगलवार को ऐपवा से जुड़ी बड़ी संख्या में महिलाओं ने मोतीपुर खैनी गोदाम के पास ईकट्ठा होकर अपने – अपने हाथों में झंडे, बैनर एवं प्लेकार्ड लेकर जुलूस निकाला । “नफरत और हिंसा के खिलाफ प्रेम, बहनापा और सम्मान के लिए एकजुट हों”, “बढ़ते उन्माद, उत्पात, ब्लातकार, हत्या, अपराध पर रोक लगाओ”, “भैरोपट्टी (घटहो) बलात्कार कांड के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल में बंद करो” आदि नारे लगाते हुए जुलूस आजार क्षेत्र का भ्रमण करते हुए नगर परिषद क्षेत्र के ताजपुर गांधी चौक पहुंचकर जुलूस सभा में तब्दील हो गया । सभा की अध्यक्षता महिला अधिकार कार्यकर्ता सह ऐपवा जिला अध्यक्ष बंदना सिंह ने की । सभा को रंजू कुमारी, अनीता देवी, सोनिया देवी, रजिया देवी, रजनी देवी, पुतुल कुमारी, सुलेखा कुमारी, संजू कुमारी, साजन देवी, कांति देवी, राजकुमारी देवी, सुबली देवी, नीलम देवी, बेवी देवी आदि ने संबोधित किया । वहीं सभा को संबोधित करते हुए ऐपवा राज्य सचिव शशि यादव ने कहा कि युद्ध हमेशा विध्वंशात्मक होता है । युद्ध अपने आप में एक समस्या है, समाधान नहीं । उन्होंने कहा कि समाज में आज भी महिलाएं दोयम दर्जे की नागरिक है ।समाज में फैले लैंगिक असमानता के खिलाफ महिलाएं रोजी, रोटी और बराबरी के लिए लड़ रही है । वे नफरत और हिंसा के खिलाफ प्रेम, बहनापा और सम्मान के लिए एकताबद्ध हो रही है । महिला नेत्री शशि यादव ने कहा कि बिहार में हाल के दिनों में उन्माद, उत्पात, बलात्कार, हत्या, अपराध बढ़ा है । आधारपुर में बेटियों को उठा लिया जाता है । महिला की हत्या कर दी जाती है । रूपौली में मो० खलील रिजवी की हत्या कर दी जाती है । कभी मियां टोली तो कभी अलतलहा तो फिर कभी कोई और बहाना बनाकर दलित- अक्लियतों पर साजिश के तहत हमला किया जा रहा है । पीड़िता के पक्ष में न्याय करने के बजाय भाजपा-जदयू के सुशासन की नीतीश सरकार की प्रशासन आरोपियों को संरक्षण देती है । न्याय के लिए संघर्षरत पीड़िता एवं परिजनों की हत्या तक कर दी जाती है । ऐसे जुल्मी सरकार को संघर्ष के जरिये सत्ता से हटाने की महिलाओं से अपील की । अपने अध्यक्षीय संबोधन में महिला नेत्री बंदना सिंह ने कहा कि भैरोपट्टी (घटहो) में तुतली लड़की के साथ ब्लातकार किया गया । पीड़िता समस्तीपुर सदर अस्पताल में ईलाजरत है । ब्यान देने के बाद भी अभी तक न एफआईआर नंबर दिया गया और न ही आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है उल्टे रसुखदार आरोपी पीड़िता एवं परिजनों को केस वापस लेने अन्यथा मजा चखा देने की धमकी दिये फिरता है । पीड़िता को न्याय मिलने तक संघर्ष चलाने का संकल्प ऐपवा नेत्री ने व्यक्त किया ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: