Download App

देवेन्द्र प्रसाद यादव की पार्टी विलय से समाजवादी विचार धारा और विपक्षी दलों की एकता को मजबूती मिलेगी: तेजस्वी प्रसाद यादव

पटना, बिहार दूत न्यूज।
राजधानी के रविन्द्र भवन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव तथा प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह के समक्ष समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री देवेन्द्र प्रसाद यादव एवं लोहिया यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक
कुमार यादव, पूर्व मंत्री महेन्द्र नारायण यादव, पूर्व विधायक रामकुमार यादव, शोभा कान्त मंडल, प्रदेश अध्यक्ष मो0 औसाफ लड्डन, मधुबनी जिला
परिषद के अध्यक्ष संजय यादव सहित अन्य समाजवादी नेताओं के नेतृत्व में बिहार के सभी जिलों से उपस्थित जिलाध्यक्ष, राष्ट्रीय एवं प्रान्तीय
पदाधिकारी सहित हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय जनता दल में विलय की घोषणा की और सभी लोगों को पार्टी का सदस्यता, टोपी एवं गमछा
देकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के द्वारा सम्मानित किया गया।

Advertisement


इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष को पूर्व केन्द्रीय मंत्री देवेन्द्र प्रसाद यादव, लोहिया यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक कुमार यादव ने मखाने
का माला पहनाकर और मिथिलांचल का पाग पहनाकर स्वागत किया।


इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि आज डॉ0 राम मनोहर लोहिया जी की जयंती के अवसर पर हम उन्हें नमन करते हैं।
इन्होंने कहा कि हमने लोहिया जी या कर्पूरी जी के साथ रहकर समाज सेवा या राजनीति नहीं की। लेकिन हमने अपने पिता से उनके संस्मरण को सुना और उन दोनों नेताओं के कार्यशैली को अपने पिता के सानिध्य में रहकर सीखा और देखा कि वो किस तरह से लोहिया जी और कर्पूरी जी के विचारों का समावेश
करके चुनौतियों का सामना करते रहे जो अब यह देखने को नहीं मिलता है। आज की राजनीति में विचार, नीति और सिद्धांत का कोई लेना-देना नहीं है। एक को टिकट मिल जाय तो दूसरा मुंह फुलाकर बैठ जाता है यह अच्छी बात नहीं है। क्योंकि समाजवादियों ने संघर्ष और आन्दोलन के माध्यम से ही सत्ता प्राप्त की है। लेकिन कुछ लोग समाजवादी होते हुए भी अपने विचारों को परित्याग
करके सिर्फ कुर्सी की चिंता में काम करते हैं और कैसी सरकार चला रहे हैं। यह सभी को पता है। उनको नफरत फैलाने वाले लोगों के साथ खडा होने में मजा मिल रहा है, क्योंकि उनकी राजनीति सिर्फ सत्ता के लिए है। समाजवादी विचार धारा पर चलने वाले लोग अब बिरले ही मिलते हैं लेकिन फिर भी हमें वैसे लोगों को जोड़कर चलना होगा जो गरीबों, शोषितों, वंचितों की लड़ाई जमीनी सतह
पर लड़ रहे हैं और ऐसे लोगों के लिए 24ग7 की राजनीति में मेहनत की आवश्यकता है। देश में समाजिक आन्दोलन को लालू जी ने मजबूती प्रदान की और अब हमसभी को मिलकर आर्थिक न्याय की लड़ाई लड़नी क्योंकि आज महंगाई, बेरोजगारी, गैस, पेट्रोल, चिकित्सा, शिक्षा और आम लोगों की पहुंच से दूर की जा रही है। आज जो सत्ता में पार्टी है उसने धन के प्रवाह को इतना बढ़ा दिया है कि राजनीति गरीब और मामूली कार्यकर्ताओं के लिए पहुंच से बाहर हो
गई है क्योंकि इनके लिए चुनाव लड़ना मुश्किल हो गया है। अब नौकरी, महंगाई, ईलाज बेहतर शिक्षा तथा विकास के मामले पर चुनाव नहीं होता है। चुनाव के समय लिफाफा पहुंचाकर लोग जीत रहे हैं जिससे पूरा राजनीति प्रदूषित हो गया है। इसके खिलाफ सभी समाजवादियों को इकट्ठा होना होगा। मुझे खुशी है कि शरद यादव और देवेन्द्र प्रसाद यादव जी जैसे समाजवादी लोग राजद की नीतियों पर विश्वास करके जुड़े हैं जो समाजवादी धारा को मजबूती प्रदान
किया और इससे देश में एक बेहतर संदेश गया है कि सभी विपक्षी दलों को नफरत
और महंगाई तथा किसानों, मजदूरों, छात्रों, नौजवानों की लड़ाई को मिलकर
लड़़े और इसके खिलाफ एकजुट होकर काम करे। आज देश भक्ति का सर्टिफिकेट
बांटने वाली पार्टी सत्ता में है जो नफरत और घृणा फैलाकर एक धर्म के
खिलाफ माहौल खडा कर रही है। मैं पूछना चाहता हंू उनलोगों से की क्या देश
की आजादी में जो नारे मुसलमानों ने दिये वो देश को मजबूती करने वाला रहा
और उनके योगदान को देश की आजादी के समय सभी लोगों ने स्वीकारा। क्या देश
इस बात से इंकार कर सकता है कि ये ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम ने भारत को
मिसाईल और एटम बम देकर सर्वशक्तिमान भारत बनाने में अपनी महत्वपूर्ण और
महत्ती भूमिका अदा की। मुझे चिंता इस बात की है कि अगर ऐसे नफरत और घृणा
फैलाने वालों के खिलाफ देश के लोग मजबूती से नहीं खड़े हुए तो ये देश को
बड़ा नुकसान कर सकता है।
इन्होंने कहा कि समय और जनता की मांग पर शरद जी और देवेन्द्र जी जैसे
लोहिया और कर्पूरी जी के विचारों पर चलने वालों ने साथ जुड़कर सामाजिक
न्याय की धारा को मजबूती प्रदान की है। सब लोगों के साथ मिलजुलकर हमें
आगे बढ़़ना है। सिमांचल और मिथिलांचल के इलाके के बीच समाजवादी आन्दोलन को
मजबूत करने की आवश्यकता है। और सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं को बिना किसी
टिका टिप्पणी के मैं भरोसा दिलाता हंू कि सभी के सम्मान और भरोसे पर
नेतृत्व खरा उतरेगा। इससे देश, राज्य और समाजहीत में काम करने वालों के
बीच एक संदेश गया है और हमें मजबूती के साथ महंगाई, बेरोजगारी, पलायन,
शिक्षा, चिकित्सा जैसे ज्वलंत मुद्दे पर आन्दोलन को आगे बढ़ाने की
आवश्यकता है। मैंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जी से भी देवेन्द्र जी के शामिल
होने के संबंध में बात की और उन्होंने इस पर सहमति दी।
राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने कहा कि मिलजुलकर समाजवाद की विचारधारा को आगे बढायेंगे और शोषित, पीड़ित जनता की आकांक्षाओं को पूरा करेंगे। एक नई उम्मीद के साथ लोग जुड़ रहे हैं जिसे सभी को मिलकर आगे बढ़ाना है क्योंकि समाजवादियों के बिखराव के कारण ही आज दंगाई देश की राजनीति में आगे बढ़े हैं। अब भ्रम और बिखराव का समय समाप्त हो रहा है और
सभी लोग मिलकर एक साथ चलने का संकल्प लेकर आगे आ रहे हैं यह अच्छा संकेत
है।
राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि समाजवादी आन्दोलन के सभी साथी जुड़ रहे हैं इससे बिहार और देश में बदलाव की स्पष्ट दिशा दिख
रही है। इसे हमें मिलजुलकर आगे बढ़ाना है।
राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुलबारी सिद्दिकी ने कहा कि देवेन्द्र जी हमेशा गरीबों की लड़ाई लड़ते रहे हैं और इन्होंने सामाजिक न्याय की
ताकतों को मजबूती प्रदान की है।
राष्ट्रीय महासचिव श्री श्याम रजक ने कहा कि इनके आने से पार्टी में नये
और पुराने लोगों का समन्वय बनेगा जिससे समाजवादी विचारधारा को आमजनों तक
पहुंचाने में सहायता मिलेगी।
पूर्व केनद्रीय मंत्री देवेन्द्र प्रसाद यादव ने आज के मिलन पर कहा कि
श्री लालू प्रसाद के सामाजिक न्याय की धारा को तेजस्वी प्रसाद यादव
मजबूती से आगे बढ़ा रहे हैं। इनमें क्वालिटी है, काबिलियत है और आम जनता
का इनके नेतृत्व पर स्वीकार्यता भी है। जो आने वाले समय में इनके नेतृतव
में भाजपा और जदयू के अहंकार की सत्ता को उखाड़ फेकेगा। इन्होंने कहा कि
कार्यकर्ता किसी भी पार्टी का रीढ़ होता है और उसके मेहनत के बल पर ही
पार्टी और नेतृत्व को मजबूती मिलती है। इसलिए इनके सम्मान का हम सभी को
ख्याल रखना चाहिए। वर्तमान में केन्द्र और राज्य सरकार तीन पीलर पर खड़ी
है। पहला है आकर्षक नारे, दूसरा है भावनात्मक मुद्दे और तीसरा है झूठी
आसाएं और ढोंग की राजनीति। इन तीन पायों के जाल से निकलने के लिए लोहिया
और कर्पूरी जी के विचारों को साथ लेकर आगे बढ़ना होगा और इस जाल को तोड़ने
में तेजस्वी प्रसाद यादव सक्षम है। क्योंकि इन्होंने मजबूती से मुद्दों
के आधार पर राजनीति को आगे बढ़ाया है।
प्रदेश प्रवक्ता एजाज अहमद ने सभी उपस्थित नेताओं और कार्यकर्ताओं को
टोपी और गमछा देकर स्वागत किया।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री वृषिण पटेल, विधायक भरत भूषण मंडल,
रणविजय साहू, सुदय यादव, समीर कुमार महासेठ, पूर्व विधायक उमाकान्त यादव,
फैयाज अहमद, सीताराम यादव, रामाशीष यादव, विनोद कुमार यादवेन्दु, शक्ति
सिंह यादव, प्रदेश प्रवक्ता एजाज अहमद, कुमर राय, अरूण यादव सहित पार्टी
के अन्य नेता और पदाधिकारी उपस्थित थे।
पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं में श्री संजय ठाकुर, राजेश सिंह,
रामलखन स्वर्णकार, विश्वनाथ कुशवाहा, श्रीकृष्ण भगवान सिंह, राम सिंह,
नवल किशोर यादव, रामेश्वर भारती, सुरेश चन्द्र चौधरी, धर्मवीर प्रसाद,
डॉ0 अमन कुमार, आजाद गुप्ता, संजय यादव, सचिदानन्द सिंह, देवेश चन्द्र
प्रजापति, जय चन्द झा, विजय कान्त चौधरी, प्रशांत झा, आनन्द मोहन, विजय
कुमार पासवान, जितेन्द्र कुमार यादव, कलेन्द्र सिंह यादव सहित हजारों की
संख्या में कार्यकर्ताओं ने समाजवादी जनता दल डी0 छोड़कर राष्ट्रीय जनता
दल की सदस्यता ग्रहण की।

 

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: