Download App

वैशाली में विश्व गणतंत्र की प्रतीकात्मक प्रतिमा के निर्माण के लिए “संकल्प पद यात्रा” निकाली गई: डॉ. ममतामयी प्रियदर्शिनी

बिहार दूत न्यूज/पटना/वैशाली।

“यू-हम फाउंडेशन” के तत्वाधान में वैशाली में “Statue of World Republic” के निर्माण के लिए सुबह 10 बजे अभिषेक पुष्करणी सरोवर से कुंड ग्राम तक “संकल्प यात्रा” के नाम से पद यात्रा निकाली गई। इस संकल्प यात्रा में डॉ० ममतामयी प्रियदर्शिनी के नेतृत्व में वैशाली के स्थानीय सुधिजनों के साथ साथ मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, मधुबनी, सिवान, जिरादेई, समस्तीपुर, पटना आदि जिलों से भी बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। डॉ० प्रियदर्शिनी ने आगे बताया कि 26 जनवरी 2022 को वैशाली गढ़ में स्थित बालाजी मंदिर परिसर में राष्ट्रीय ध्वजारोहन के पश्चात “Yu-Ham Foundation” के “धरोहर संरक्षण प्रकोष्ठ” ने तय किया था कि अगर सरकार की तरफ से “Statue of World Republic” के निर्माण के लिए उचित आश्वाशन नहीं मिला तो 23 मार्च को “संकल्प पद यात्रा” निकाली जायेगी।

Advertisement

कल दिनांक 22 मार्च को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर इसकी सूचना भी सरकार एवं आम नागरिकों को दी गई थी।
डॉ० प्रियदर्शिनी ने आगे बताया कि इस यात्रा की शुरुआत अभिषेक पुष्करणी सरोवर के जल से संकल्प लेकर की गई जो महावीर की जन्मस्थली कुंडग्राम में समाप्त हुई। कुंडग्राम में यात्रा समाप्ति के पश्चात वहां यात्रा में शामिल लोगों के साथ बैठक कर इस मुहिम को आगे बढ़ाने की रणनीति पर चर्चा कर योजना बनाई गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि जब तक संस्था कि मांग पर संज्ञान नहीं ली जाती है तब तक संघर्ष जारी रहेगी और कालांतर में इसे बिहार स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर का अभियान बनाया जायेगा।

डॉ० प्रियदर्शिनी ने आगे बताया कि इस मुहिम की शुरुआत पिछले वर्ष 14 नवंबर, 2021 को वैशाली में एक पोस्टर का अनावरण करके किया गया था। तत्पश्चात इस सिलसिले में दो बार प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखी गई जिसे प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार एवं चीफ सेक्रेटरी, बिहार सरकार को यथोचित कार्यवाही हेतु अग्रेषित की गई। डॉ० प्रियदर्शिनी ने यह भी बताया कि Statue of World Republic के निर्माण के लिए आग्रह करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, कला एवं संस्कृति मंत्री तथा पर्यटन मंत्री से भी पत्रचार किया गया। साथ ही इसके निर्माण के लिए केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री, भारत सरकार, श्रीपाद नाईक से मुलाकात कर उन्हें भी पत्र सौंपी गई। इसके अलावा, 26 जनवरी, 2022 को भी वैशाली गढ़ में राष्ट्रीय ध्वजारोहण कर “Statue of World Republic” के निर्माण का संकल्प दोहराया गया।
बकौल डॉ० ममतामयी प्रियदर्शिनी, पर्यटन राष्ट्रीय विकास का मुख्य वाहक है। भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना “मेक इन इंडिया” को सफल बनाने में पर्यटन उद्योग की एक अहम् भूमिका हो सकती है और अगर वैशाली में विश्व के प्रथम गणतंत्र की प्रतीकात्मक प्रतिमा का निर्माण हो गया तो यह पूरे विश्व से पर्यटकों को आकर्षित कर राज्य एवं देश को आर्थिक समृद्धि प्रदान करेगा और बिहार में रोजगार के असंख्य साधन विकसित होंगे।
आज के संकल्प पद यात्रा में डॉ० ममतामयी प्रियदर्शिनी के नेतृत्व में शशि भूषण सिंह, अनिल कुमार मिश्रा, धर्मेंद्र कुमार, मृगेंद्र कुमार, राजेश कुमार, अमित कुमार, पप्पू कुमार, शशि भूषण, अभिजीत सिंह, शेखर सिंह, शैलेंद्र कुमार, अखिलेश कुमार, दशरथ पासवान, चंद्रभूषण चौबे, सरोज कुमार, विश्वनाथ पासवान, रंजन सहनी, किरण देवी, इंदु देवी, नवीन जी, रामा शंकर सिंह, ॐ प्रकाश शाह, विवेक कुमार, पुट्टू, गुड्डू, केशव कुमार सिंह एवं सैंकड़ों आमजन शामिल हुए।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: