Download App

समस्तीपुर: जेएनयू छात्र नेता चंद्रशेखर के शहादत दिवस को रोजगार अधिकार दिवस के रूप में मनाया गया

संजय भारती , समस्तीपुर
समस्तीपुर में गुरुवार को जेएनयू के पूर्व छात्र नेता शहीद चंद्रशेखर के शहादत दिवस को इनौस कार्यकर्ताओं ने रोजगार अधिकार दिवस के रूप में मनाया ।

Advertisement

समस्तीपुर जिला के ताजपुर नगर परिषद क्षेत्र के हास्पिटल चौक पर शहीद चंद्रशेखर को दो मिनट का मौन श्रद्धांजलि देने के बाद उनके तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया ।

मौके पर नफरत – उन्माद नहीं अधिकार चाहिए- सम्मानजनक रोजगार चाहिए । इनोस नेता ने कहा कि रोजगार के अवसरों को खत्म करना बंद करो , खाली पदों पर अविलंब बहाली करो , रेलवे, बैंक समेत तमाम सरकारी कंपनियों को बेचने का फैसला वापस लो आदि नारे लगाये । तत्पश्चात संकल्प सभा का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता इनौस के प्रखण्ड उपाध्यक्ष मो० एजाज़ ने किया । मौके पर सभा को मो० सज्जाद , मो० शकील , रौकी खान , मो० सदीक , मनोज साह , अरशद कमाल बबलू , मुजफ्फर ईमाम , प्रमोद कुमार झा , जीतेंद्र कुमार झा , मो० मासुम , अबदुस सादीक , रामवरण सहनी , चांद बाबू , मो० हुसैन , मो० इर्शाद , अर्जुन कुमार , कृष्ण कुमार , राम कुमार , मो० एकरामुल खान , मुकेश कुमार , मो० आले , प्रभात रंजन गुप्ता , ब्रहमदेव प्रसाद सिंह , माले प्रखण्ड सचिव सुरेंद्र प्रसाद सिंह आदि ने संबोधित किया । सभा को मुख्य वक्ताओं ने संबोधित करते हुए इनौस जिला सचिव आसिफ होदा ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार दो करोड़ नौजवानों को प्रति वर्ष नौकरी तो बिहार के राजग की नीतीश सरकार ने 19 लाख नौकरी देने का वादा किया था । राजग गठबंधन चुनाव जीत गई लेकिन मोदी – नीतीश सरकार अब नौकरी देने से पिछे भाग रही है । देश एवं राज्य में बड़े दायरे का रोजगार आंदोलन चल रहा है . सरकार नौकरी देकर वादा निभाये , इसी के तहत शहीद चंद्रशेखर के शहादत दिवस को छात्र – नौजवानों ने देशव्यापी रोजगार अधिकार दिवस के रूप में मनाकर रोजगार आंदोलन को तेज करने का शंखनाद करते हुए कहा है कि रोजगार देने से भागती सरकार को छात्र – नौजवान चैन से नहीं रहने देगी । उन्होंने कहा कि आंदोलन के माध्यम से सरकार का पोल खोलकर आगामी चुनाव में सत्ता से उखाड़ फेकेंगी ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: