Download App

जीविका के सहयोग से पहले से ही महिलाएं आजीविकाओं और स्वरोजगार से जुड़ी हुई हैं, अब आईआईएम कोलकाता का सहयोग मिलने से इस दिशा में एक नई मजबूती आएगी

समस्तीपुर, बिहार दूत न्यूज।
जीविका स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं के स्वामित्व एवं नेतृत्व वाले उद्यमों को मजबूत करने तथा आजीविका के विभिन्न अवसरों को बढ़ावा देने के लिए मंगलवार को एक दिवसीय कार्यशाला स्थानीय एक होटल में आयोजित किया गया। कार्यशाला आईआईएम, कोलकाता के सहयोग से आयोजित किया गया।


मालूम हो कि राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवर्तन परियोजना अंतर्गत जीविका समूह से जुड़ी महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की पहल की जा रही है। जीविका के डीपीएम गणेश पासवान ने कहा कि जीविका के सहयोग से पहले से ही महिलाएं आजीविकाओं और स्वरोजगार से जुड़ी हुई हैं लेकिन अब आईआईएम कोलकाता का सहयोग मिलने से इस दिशा में एक नई मजबूती आएगी।
अब जिले में गैर कृषि कार्य से संबंधित उद्यमों के विकास में तेजी आएगी।
मालूम हो कि जीविका द्वारा क्रियान्वित इस परियोजना द्वारा महिला उद्यमियों को वित्तीय सहायता के लिए बैंकों या अन्य वित्तीय संस्थानों से जुड़ाव के अलावा कारोबार को बाजार से जुड़ने में मदद किया जाएगा। साथ ही इन उद्यमियों को आईआईएम द्वारा तकनीकी और व्यवसाय विकास के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा । मौके पर आई आई एम के राम कुमार, जीविका की शिवांगी सहाय सहित अन्य प्रबंधक उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: