Download App

पटना शहर को स्वच्छता में नंबर 1 बनाने के लिए दें अपना फीडबैक: अनिमेष कुमार पराशर

बिहार दूत न्यूज, पटना।
स्वच्छता बेहतर स्वास्थ्य की आधारशिला होती है। कोरोना जैसे महामारी ने भी स्वच्छता की जरूरत को उजागर किया है। स्वच्छता व्यक्तिगत विकास के साथ आपके शहर की भी स्वच्छ सोच को दिखाता है। इस दिशा में देशभर में 1 मार्च से 15 अप्रैल तक स्वच्छता मतदान चलाया जा रहा है। पटना शहर में भी नगर निगम द्वारा शहर को साफ़ सुथरा रखने की मुहीम जारी है और सभी जगहों पर घर से कचरे के उठाव का प्रबंध किया गया है। इसके अलावा भी नगर निगम शहर को हर तरीके से स्वच्छ रखने के लिए प्रयासरत है। इसके लिए जरूरी है कि पटना के लोग भी स्वच्छता सर्वेक्षण में मतदान करें . इस मतदान का हिस्सा बनकर शहर के निवासी शहर को और स्वच्छ बनाने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकते हैं.

Advertisement

पटना शहर के निवासी आगे आकार बने स्वच्छता मतदान का हिस्सा

नगर आयुक्त, पटना नगर निगम अनिमेष कुमार पराशर ने कहा कि पटनावासी अधिक से अधिक संख्या में इस स्वच्छता मतदान का हिस्सा बनें।अपने बहुमूल्य मतदान के जरिये अपनी राय रखकर नगर निगम को और बेहतर तरीके से अपने कार्यों को संपादित करने में सहयोग करें. अनिमेष पराशर ने कहा कि पटना नगरपालिका पटना को स्वच्छ बनाने में जुटा है। साथ ही लोगों से अपील कर रही है कि शहर को स्वच्छ रखने में पटना नगर निगम का सहयोग करें।

ओटीपी से घबराएं नहीं:

स्वच्छता सर्वेक्षण में 15 अप्रैल तक ही मतदान किया जा सकता है। इसलिए अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी महत्वपूर्ण है।
कोई भी पटना निवासी https://ss-cf.sbmurban.org/#/feedback साईट पर जाकर मतदान कर सकते हैं। मतदान में मात्र 5 प्रश्नों का उत्तर देना है और इससे नगर निगम को अपने काम को बेहतर तरीके से करने में मदद मिलेगी। स्वच्छता मतदान को निष्पक्ष बनाने के लिए इस दौरान आपको वन टाइम पासवर्ड(ओटीपी) डालना होगा। यह आपके मोबाइल नंबर पर आएगा। इससे घबराने की जरूरत नहीं है।

5 प्रश्नों का जवाब देकर आप बन सकते हैं मतदान का हिस्सा:

क्या हमारा पटना शहर स्वच्छता में पूरे भारत में नंबर 1 की पोजीशन पर आ सकता है? क्या आपके द्वारा पटना शहर को स्वच्छता में नंबर 1 शहर बनाने के सिर्फ आपके द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में https://ss-cf.sbmurban.org/#/feedback के माध्यम से अपना फीडबैक दर्ज किया है?
क्या आप अपने घर में गीले एवं सूखे कचरे को अलग अलग करते हैं? क्या आपके घर पर प्रतिदिन कचरा उठाने वाली गाड़ी आती है? जैसे सवालों का जबाब हाँ या नहीं में देना का विकल्प आपको मिलेगा। प्रश्नों के उत्तर के उपरांत पटना वासी अपना नाम, मोबाइल नंबर तथा हस्ताक्षर कर अपना मत जमा कर सकते हैं और ऑनलाइन मतदान की प्रक्रिया पूरी तरह से सरल रखी गयी है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: