Download App

पटना: 1 अण्णे मार्ग में दावत-ए-इफ्तार का आयोजन, बड़ी संख्या में रोजेदारों ने की शिरकत

पटना, बिहार दूत न्यूज।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 1 अण्णे मार्ग स्थित नेक संवाद में पवित्र रमजान के अवसर पर रोजेदारों को दावत-ए-इफ्तार पर आमंत्रित किया दावत-ए-इफ्तार में बड़ी संख्या में रोजेदारों एवं गणमान्य व्यक्तियों ने शिरकत की।


इस अवसर पर इफ्तार के पहले मित्तन घाट के सज्जादानशीं हजरत सैयद शाह शमीमउद्दीन अहमद मुनअमी ने रमजान एवं रोजे की महत्ता पर विस्तार से प्रकाश डाला और सामूहिक दुआ की।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री सहित आमंत्रित अतिथियों ने सामूहिक दुआ में शामिल होकर राज्य की तरक्की, प्रगति, आपसी भाईचारे एवं मोहब्बत के लिए खुदा-ए-ताला से दुआयें कीं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बारी-बारी से तमाम आगत अतिथियों एवं रोजेदारों का स्वागत किया।

इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद संजय जायसवाल, विधान पार्षद सह राजद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, विधानसभा उपाध्यक्ष श्री महेश्वर हजारी, शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसुरत कुमार, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान, ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत परिवहन मंत्री शीला कुमारी, अनुसूचित जात एवं अनुसूचि कल्याण राज, मंत्री संतोष कुमार सुमन, विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह, मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री मंत्री सुनील कुमार, निर्माण मंत्री नितिन नवीन, सांसद रामकृपाल यादव, सांसद प्रिंस राज, बिहार राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड अध्यक्ष मोहम्मद इर्शादुल्लाह, हज कमिटी के चेयरमैन मोहम्मद इलियास सहित अन्य विधायकगण, विधान पार्षदगण, राज्य के वरीय प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में रोजेदार उपस्थित थे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत के क्रम में कहा कि आप सभी को इस अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ। हर वर्ष इसका आयोजन होता रहा है। पिछले दो वर्षों से कोरोना के कारण इफ्तार का आयोजन नहीं हो पा रहा था। आज के आयोजन में राज्य के विभिन्न जगहों से कई लोग आये हैं। मुझे इसकी खुशी है। रोजे की महत्ता पर प्रकाश डालते हुये कई बातें कही गई हैं। उपदेश में कई बातें भी कही गई हैं जिसे समझने की जरूरत है। सभी लोगों को मिलजुल कर प्रेम के साथ रहना है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: