Download App

पटना: सरकार व प्रशासन केवल पूंजीपतियों की सेवा करने में जुटी हुई है..

पटना, बिहार दूत न्यूज।
संयुक्त किसान मोर्चा बिहार के प्रतिनिधि एवं किसानों का जत्था गांधी मैदान, पटना स्मारक से जे. पी. रोड गोलंबर होते हुए सरकार के खिलाफ अपने मांगों की नारेबाजी करते हुए राज्य भवन की और से 16 सूत्री मांगो से सम्बंधित कार्यक्रम के अनुसार मार्च किया। किन्तु प्रशासन प्रतिनिधि मंडल के जत्था को एस.पी. वर्मा गोलंबर रोड पर रोक दिया गया, जो सभा में तब्दील हो गया।


सभाओं को संबोधित कर वक्ताओं ने कहा की इस कार्यवाही की घोर निंदा करते है यह लोकतंत्र की हत्या है। राजभवन भी जाने नहीं दिया गया और ज्ञापन तक भी नहीं देने दिया गया, गुस्साए किसान प्रतिनिधि मंडल नेताओं के साथ हाथापाई हुई।
उन्होंने कहा की सरकार एवं प्रशासन केवल पूंजीपतियों की सेवा करने में जुटी हुई है।

इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिनिधि सर्वश्री जवाहर निराला, चरमचन्द्र आजाद, चन्द्र शेखर यादव, चंद्रशेखर प्रसाद, विनोद सिंह यादव, बाल कुमार यादव, महादेव यादव, कृष्णा यादव, उपेन्द्र प्रसाद, शिवशंकर प्रसाद, विपिन पासवान, छोटू कुमार आदि हजारो किसान मौजूद थे।

यह है मांग..

1. एमएसपी की कानूनी गारंटी करो |
2. किसान आंदोलनों में किसान पर हुए केस वापस लो |
3. बिहार में सरकारी मंडी पुनः बहाल करो |
4. किसानों का तमाम कर्ज माफ करो |
5. किसानों को मुफ्त बिजली उपलब्ध कराओ |
6. फसलों का दाम निर्धारित करने का मानक श्रम को बनाओ |
7. एक समान शिक्षा प्रणाली लागू करो |
8. सरकारी संसाधनों के निजीकरण पर रोक लगाओ |
9. हर खेत को पानी तथा हर हाथ को काम दो |
10. किसान को मुफ्त खाद, बीज इत्यादि उत्पादन के साधन उपलब्ध कराओ |
11. अंचल कार्यालय में खेतों की ऑनलाइन प्रतिपादन तथा दाखिल खारिज में व्याप्त भ्रष्टाचार को खत्म करो |
12. कृषि उत्पादन का मूल्य तय करने के लिए ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित कमिटी का गठन करो और उसमें किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को भी शामिल करने की योजना बनाओ |
13. राष्ट्रीय किसान आयोग का गठन करो |
14.किसानो को निह्सुल्क फसल बिमा किया जाये |
15. किसान मजदूर असंगठित क्षेत्र के मजदूर को चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी के सामान पेंशन दिया जाए |
16. बिहार के उत्तर कोण नाहर परियोजनाओं को शीघ्र चालू किया जाए |

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: