Download App

AASTIK GROUP कंस्ट्रक्शन कंपनी का बड़ा फर्जीवाड़ा, जमीन मालिक को लगाया करोड़ों का चूना..

पटना, बिहार दूत न्यूज।

Advertisement

दानापुर के कंस्ट्रक्शन कंपनी AASTIK GROUP के फर्जीवाड़े से जुड़ी है। इस कंपनी के मालिक कौसर खान पर धोखाधड़ी और चालबाजी का आरोप लगा है। दरअसल कौसर खान के कई सारे प्रोजेक्ट्स और फर्म हैं। जिसमें वो लोगों को पार्टनर बनाकर उनसे इंन्वेस्ट करवाते हैं। उनका नया प्रोजेक्ट मैत्री वास्तु निर्माण एल एल पी है। जिसमें उनके द्वारा किए जा रहे धोखाधड़ी के कई सबूत मिले हैं। इस जमीन का कल भूमि पूजन भी है। बता दें कि लीला मैत्री पैलेस के नाम से वह नया प्रोजेक्ट बना रहे। जिसमें कई लोगों ने बुकिंग भी कर ली है। पर ये प्रोजेक्ट पूरी तरह से फर्जी है। कौसर खान पर लोगों को फर्जी बुकिंग के नाम पर ठगने और गलत तरीके से जमीन लेने का आरोप लगा है।
*2019 में जमीन मालिक से डील के बाद खान ने नहीं दिए अब तक पूरे पैसे*
जमीन के मालिक अनिल सिंह ने कौसर खान पर धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उन दोनों ने मिलकर 2019 में इस जमीन पर तीन करोड़ 70 लाख रुपए का विकास एकरार नामा बनवाया। कौसर खान और उनके बीच डील हुई। जिसमें उनको पूरी रकम अदा करने की बात कही गई। वहीं जमीन देने के बाद कंपनी और उसके मालिक की तरफ से उनको केवल 22 लाख रुपए ही दिए गए। जिसके बाद कंपनी लगातार तीन साल से उनके साथ टालमटोल करती रही। बात आज की है कि आज भी जमीन मालिक को पूरे पैसे नहीं मिले। जिससे परेशान होकर करण सिंह ने रेरा का भी दरवाजा खटखटाया। बता दें कि इस प्रोजेक्ट के लिए दस्तावेज भी सारे गलत हैं। जो रेरा में प्रस्तुत किए गए।
*रेरा में फर्जी दस्तावेज दिखाकर किया रजिस्ट्रेशन*
करण सिंह ने ये भी कहा कि कौसर खान ने इमारत बनाने के लिए सारे कागजात फर्जी तरीके से पास करवाया है। उन्होंने फर्जी पेपर रेडी करके नगर परिषद दानापुर से नक्शा पास करवाया। जिसके बाद उस कागजात को रेरा में दिखाकर फर्जी तरीके से उनको भी गुमराह किया है। कंपनी फर्जी तरीके से बुकिंग करके लोगों के पैसे ठगने का काम कर रही है। कंपनी ने दैनिक न्यूज पेपर में कल हो रहे इसके भूमि पूजन का इश्तिहार दिया है। बता दें कि इस जमीन पर जो प्रोजेक्ट बनकर तैयार होगी उसका नाम लीला मैत्री पैलेस है।
वहीं इस मामले में पहले से ही सिविल कोर्ट पटना, नगर परिषद दानापुर और रेरा में इसके रजिस्ट्रेशन को खारिज करने के लिए केस चल रहा है। वहीं मामला पहले से ही कोर्ट में है। तो भूमि पूजन होना असंभव है। वहीं इस कंपनी के जरिए जितनी भी बुकिंग हुई है। उन लोगों को बड़ा लॉस उठाना पड़ सकता है। क्योंकि कंपनी लोगों को बुरी तरह से ठग रही है।
*जमीन मुआयना करके लोगों को ठगते*
जमीन मालिक ने कंपनी के डायरेक्टर कौसर खान पर यह भी आरोप लगाया है कि वह पहले से ही जमीन का मुआयना करते। उसके मालिक के बारे में जानकारी एकत्रित करते।य़ जिसके बाद पना प्रस्ताव लेकर उसके पास जाते और कंपनी में उनको पार्टनर बनाने का प्रलोभन देकर ठगते हैं।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: