Download App

एक सितंबर से पूर्णतः ठप किया जाएगा मगध विवि मुख्यालय : फैक्टनेब

बिहार दूत न्यूज, पटना

नवंबर 2021 में मगध विश्वविद्यालय बोधगया को राज्य सरकार से 2009-12,2010-13,2011-14 एवं 2012-15 की प्राप्त अनुदान राशि को महाविद्यालयों को निर्गत करने, संबद्ध महाविद्यालयों के शासी निकाय में शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए विश्वविद्यालय प्रतिनिधि का मनोनयन एवं शिक्षक प्रतिनिधि का चुनाव प्रक्रिया अविलंब पुरी करने, विश्वविद्यालय स्तर पर पद सृजन के लंबित मामलों का शीघ्र निपटारा करने, संबद्ध महाविद्यालयों के शिक्षाकर्मियों को शोध प्रवेश परीक्षा से मुक्त रखने, संबद्ध डिग्री महाविद्यालयों के शिक्षकों को शोध प्रयवेक्षक नियुक्त करने, उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन पारिश्रमिक की समस्त बकाया राशि का भुगतान अतिशीघ्र करने , शैक्षणिक सत्र को नियमित करने, लंबित परीक्षाफल घोषित करने, उत्तीर्ण विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र जारी करने आदि मांगों को लेकर संबद्ध डिग्री महाविद्यालय के शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी 1 सितंबर से मगध विश्वविद्यालय मुख्यालय को पूर्ण रुपेण ठप्प कर देंगे।
बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ (फैक्टनेब) के प्रधान संयोजक डा शंभुनाथ प्रसाद सिन्हा , राज्य संयोजक प्रो राजीव रंजन, राज्य मीडिया प्रभारी प्रो अरुण गौतम, मगध एवं पाटलिपुत्र संयुक्त विश्वविद्यालय के संयोजक डा कुमार राकेश कानन, मगध विश्वविद्यालय शाखा अध्यक्ष डा नवल किशोर प्रसाद सिंह, पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय अध्यक्ष डा रामनरेश प्रसाद गया जिलाध्यक्ष डा अरविंद कुमार, नवादा जिलाध्यक्ष डा नरेंद्र सिंह, नालन्दा जिलाध्यक्ष डा कौशलेंद्र कुमार , पटना जिलाध्यक्ष डा ब्रहृमानन्द प्रसाद, अरवल जिलाध्यक्ष डा रामविनय सिंह, जहानाबाद जिलाध्यक्ष डा शिव कुमार सिंह एवं औरंगाबाद के डा ज्ञानेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि मगध विश्वविद्यालय अन्तर्गत गया, औरंगाबाद, जहानाबाद, अरवल, नवादा, नालन्दा एवं पटना जिला के सभी शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महाविद्यालयों में पठन पाठन एवं प्रशासनिक कार्य स्थगित कर हजारों की संख्या में मगध विश्वविद्यालय मुख्यालय पर रोषपूर्ण प्रदर्शन कर धरना पर बैठेंगे और एम यू को पूर्ण रूप से ठप्प रखेंगे।

महासंघ के नेताओं ने बताया कि शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों के न्यायोचित मांगों और आन्दोलन का समर्थन करने हेतु राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, विधान परिषद के पूर्व सभापति अवधेश नारायण सिंह, गया शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के विधान पार्षद संजीव श्याम सिंह के साथ ही स्थानीय सभी जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है ।

शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी नेताओं ने मंगध विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति और विश्वविद्यालय प्रशासन को आगाह किया है कि भ्रष्टाचारी प्रवृत्ति और हठधर्मिता का परित्याग कर संबद्ध डिग्री महाविद्यालयों की समस्याओं का अतिशीघ्र निराकरण किया जाए अन्यथा शिक्षाकर्मी उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे जिसकी सारी जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन को होगी ।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
Translate »