Download App

मुजफ्फरपुर के मिठाई दुकानदार का बेटा बना नेवी में सब लेफ्टिनेंट

  • कानू हलवाई संघर्ष सेना फाउंडेशन ने किया सम्मानित

बिहार दूत न्यूज/एस प्रसाद, मुजफ्फरपुर

Advertisement

शहर के गोबरसही में एक मिठाई दुकानदार चतुर्भुज प्रसाद का कभी सपना था कि उसका भी बेटा अफसर बनें। जब भी टीवी पर किसी की आईएएस बनने की खबर देखता था, तो वह मन ही मन उसमे अपने बेटे को देखने लगता था; लेकिन वह अपने बेटे से कह नहीं पाता था। मगर छोटे बेटे चंदन कुमार को इसका अहसास हो जाता था कि पिता की क्या इच्छा है। वह इसे पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करने लगा। वह होली मिशन सीनियर सेकेंडरी स्कूल से 10th की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपनी बड़ी दीदी जूली गुप्ता और जीजा वेदप्रकाश (कस्टम सुपरिंटेंडेंट) के पास चेन्नई चला गया। यहां उसने चेन्नई पब्लिक स्कूल से इंटर की परीक्षा पास की। इसके बाद में वह एसआरएम यूनिवर्सिटी चेन्नई से बीटेक किया। अपने लक्ष्य को पूरा करने और सेल्फ डिपेंडेंसी के लिए वह 2020 में एक प्राइवेट कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में नौकरी करने लगा। इस दौरान अफसर बनाने का जुनून पूरा करने के लिए अपनी इच्छा के अनुरूप नेवी में एग्जाम देने लगा और सफलता भी मिल गई। अगस्त 2021 में एसएसबी बेंगलुरु से नेवी में सब लेफ्टिनेंट के रूप में चयन हो गया। फरवरी 2022 में ज्वाइनिंग लेटर आया।

इसे भी देखें।।लाइव

दो भाई और दो बहनों में सबसे छोटा है चंदन

दो भाई और दो बहनों में सबसे छोटा चंदन के पिता चतुर्भुज प्रसाद का मिठाई दुकान का कारोबार है। माता सीता देवी गृहिणी हैं। बड़े भाई प्रभात कुमार पिता को कारोबार में सहयोग करते हैं, जबकि दो बहनों जूली गुप्ता और ज्योति गुप्ता की शादी हो चुकी है। बड़े जीजा चेन्नई में कस्टम सुपरिंटेंडेंट हैं तो छोटे जीजा इंद्रजीत कुमार रेलवे नागपुर जोन में सीनियर टीटीई के रूप में कार्यरत हैं।

सपने बड़े देखें और कड़ी मेहनत करें तो सफलता जरूर मिलेगी : चंदन

नव चयनित सब लेफ्टिनेंट चंदन कुमार ने कहा कि छात्रों को सपने बड़े देखने चाहिए और इसे पाने के लिए कड़ी मेहनत करें। उन्होंने कहा की हम जिस समाज(कानू हलवाई) से आते हैं उनमें अधिकांश छात्र छोटे छोटे जॉब के लिए संघर्ष करते रहते हैं। इस मानसिकता को बदलनी होगी। हमें बड़े सपने देखने चाहिए और उसे लक्ष्य बनाकर कड़ी मेहनत से प्राप्त करना है।

माता – पिता सहित पूरे परिवार को दिया सफलता का श्रेय

नव चयनित सब लेफ्टिनेंट चंदन कुमार ने अपनी सफलता का श्रेय माता सीता देवी ,पिता चतुर्भुज प्रसाद सहित भाई, दीदी, जीजा समेत पूरे परिवार को दिया है। उसने कहा कि विपत परिस्थितियों में सभी ने साथ देकर हौसला बढ़ाया है। खासकर पिता की इच्छा ने रास्ते में कभी रुकने नहीं दिया।

बेटे की सफलता से काफी खुश हैं माता – पिता

सब लेफ्टिनेंट बनने के बाद माता -पिता के साथ चंदन कुमार।

चंदन के पिता चतुर्भुज प्रसाद और माता सीता देवी काफी खुश है। इन्होंने कहा कि हर मां बाप को ऐसे पुत्र होनी चाहिए, जो उनके सपनों को पूरा कर सके।

कानू हलवाई संघर्ष सेना फाउंडेशन ने चंदन को किया सम्मानित

सब लेफ्टिनेंट बनने पर चंदन को सम्मानित करते कानू हलवाई संघर्ष सेना फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव कानू और प्रदेश अध्यक्ष चंद्रभूषण कानू।

कानू हलवाई संघर्ष सेना फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव कानू और प्रदेश अध्यक्ष चंद्रभूषण कानू ने शुक्रवार को चंदन कुमार को कानू हलवाई समाज का नाम ऊंचा करने पर उनके गोबरसाही आवास पर सम्मानित किया।

संजीव कानू ने कहा कि बच्चा सही ढंग से मेहनत करे तो लक्ष्य जरूर प्राप्त कर सकता है। उन्होंने चंदन के माता पिता को शुभकामना दिया कि कष्ट सहकर बच्चों को प पढ़ाया। इसका सुखद परिणाम आया है। उन्होंने कानू हलवाई समाज के सभी माता पिता से अपील कि की अपने बच्चों को जरूर पढ़ाएं।

वहीं प्रदेश अध्यक्ष चंद्रभूषण कानू ने कहा कि शिक्षा वह शेरनी का दूध जो जितना पिएगा उतना ही दहारेगा। उन्होंने बच्चों को कड़ी मेहनत कर शिक्षा ग्रहण करने की अपील की।

 

 

 

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: