Download App

छह महीने के लिए बढ़ाई गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, मोदी कैबिनेट की बैठक में लिया गया यह निर्णय

नई दिल्ली,बिहार दूत न्यूज।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना यानी पीएमजीकेएवाई को इस साल सितंबर तक बढ़ाने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शनिवार को हुई कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया।
खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल ने इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण योजना पीएमजीकेएवाई की अवधि छह महीने के लिए बढ़ाई है।

Advertisement

गौरतलब है कि साल 2020 से ही केंद्र सरकार की ओर से इस स्कीम के तहत गरीब परिवारों को मुफ्त राशन मुहैया कराया जा रहा है।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की घोषणा मार्च 2020 में की गई थी।


शुरू में यह योजना अप्रैल-जून 2020 की अवधि के लिए शुरू की गई थी, लेकिन बाद में इसे 30 नवंबर, 2021 और 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दिया गया था।
पीएमजीकेएवाई के तहत 80 करोड़ से अधिक लोगों को प्रति माह 5 किलो अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 80 करोड़ राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन की पहचान की गई है। राशन की दुकानों के माध्यम से उन्हें वितरित किए जाने वाले सब्सिडी वाले अनाज के अलावा मुफ्त राशन दिया जाता है।
पीएमजीकेएवाई  के तहत मुफ्त अनाज का फायदा उन लोगों के लिए नहीं है, जिनका राशन कार्ड नहीं है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना राशनकार्ड धारकों तक ही सीमित है यानी देश के जिस नागरिक के पास भी राशन कार्ड उपलब्ध है, उसे अपने कोटे के राशन के साथ-साथ इस योजना के तहत अतिरिक्त राशन मिल रहा है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: