Download App

छात्र-छात्राऐं के उज्जवल भविष्य के लिए संस्कृत कॉलेज का विकास जरूरी:विधायक..

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज़।

Advertisement

रहीमपुर उतरी पंचायत अंतर्गत अवध बिहारी संस्कृत महाविद्यालय रहीमपुर के प्रांगण में संस्कृत कॉलेज के विकास को लेकर नागरिक विकास मंच व अवध बिहारी संस्कृत महाविद्यालय विकास संघर्ष समिति रहीमपुर की बैठक समिति के अध्यक्ष सेवानिवृत शिक्षक सुरेश यादव की अध्यक्षता में आयोजित की गई।
जिसका संचालन दिनेश यादव अधिवक्ता ने किया।
बैठक के मुख्य अतिथि खगड़िया विधायक छत्रपति यादव का स्वागत सुरेश यादव एवं आचार्य राकेश पासवान शास्त्री व अन्य के द्वारा अंग वस्त्र और माला से किया गया।

बैठक में सर्वसम्मति से संस्कृत महाविद्यालय के अधीनस्थ भू-सम्पदा को सुरक्षित एवं संरक्षित किये जाने,कॉलेज परिसर के चहूंओर चहारदीवारी निर्माण कराने, कॉलेज की जमीन को गलत ढ़ंग से कराये गये दाखिल-खारिज को रद्द कराने,नियमित एवं व्यवस्थित रूप से इस महाविद्यालय में पठन- पाठन कार्य चलाने, नवीन कुमार सिंह के द्वारा संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेश यादव के विरूद्ध झूठे मुकदमा किये जाने का एक स्वर से निन्दा प्रस्ताव पारित किया गया।

विधायक छत्रपति यादव ने संघर्ष समिति को और मजबूत करने पर बल देते हुए कहा कि छात्र-छात्राऐं के उज्जवल भविष्य के लिए संस्कृत महाविद्यालय का सर्वांगीण विकास जरूरी है।इसके लिए हमने प्रांगण में मिट्टी भराई का कार्य करवा रहे हैं।आगे चहारदीवारी और सुन्दर भव्य गेट का भी निर्माण करायेंगे।हमने इस महाविद्यालय की 70-75 लाख बची राशि से वर्ग कक्ष के लिए भवन निर्माण कार्य कराने की बात कुलपति से किया।सबा दो एकड़ कॉलेज की जमीन का जो विवाद है उसका समाधान करायेंगे । इस महाविद्यालय में जो भी विकास का काम हो रहा है उसका देखरेख संघर्ष समिति अवश्य करें।तभी कॉलेज का विकास होगा और समिति का सम्मान बढ़ेगा।

प्रोफेसर आनन्द कुमार सिंह ने कहा कि इस महाविद्यालय की सम्पत्ति के संरक्षण और संवर्धन से हीं इसका समुचित विकास संभव है।
जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि इस महाविद्यालय का गौरवशाली इतिहास रहा है।लेकिन कामेश्वर सिंह संस्कृत विश्व विद्यालय के अंगीभूत इकाई बन जाने के बाद इसकी स्थिति काफी दयनीय हो गई है;जो लोक लेखा समिति, कॉलेज विकास संघर्ष समिति व जिला प्रशासन के अपेक्षित सहयोग मिले तो इस महाविद्यालय का कायाकल्प होना सुनिश्चित है।
बैठक को महाविद्यालय के प्रधानाचार्य विनय कुमार सिंह , प्रभाशंकर सिंह, रमेश प्रसाद सिंह, राजेन्द्र महतों, पूर्व मुखिया मक्खन साह,पंसस सुनील चौधरी, मनीष कुमार सिंह, रहीमपुर दक्षिणी के मुखिया प्रतिनिधि धर्मवीर यादव,चन्द्रशेखरम वर्मा, सुभाष चन्द्र जोषी,सुरेश पोद्दार,नवल किशोर यादव, नरेश यादव,ललन चौधरी, आचार्य धनंजय कुमार पप्पू, राजकुमार यादव,किसान सलाहकार अंकेश कुमार, आचार्य महेश ठाकुर महंथ, शिक्षक नेता अशोक कुमार यादव, शिक्षक कविराज, शिक्षक विनोद कुमार, निलेश कुमार यादव,राजेन्द्र प्रसाद यादव,उमेश यादव,पूर्व सरपंच साधूशरण यादव, भोला यादव,अनिल यादव, रामविलाश यादव, नवीन यादव, नन्दकिशोर यादव, ने संबोधित करते हुए संस्कृत महाविद्यालय रहीमपुर के विकास के लिए संघर्ष समिति को दुरुस्त करने पर बल दिया।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »
%d bloggers like this: