Download App

लक्ष्य योजना- अनुमंडलीय अस्पताल बनमनखी का यूनिसेफ़ की राष्ट्रीय टीम ने किया निरीक्षण

पूर्णिया, बिहार दूत न्यूज।
ज़िला मुख्यालय स्थित राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल परिसर स्थित सदर अस्पताल से लेकर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के उद्देश्य से लक्ष्य कार्यक्रम के तहत प्रमाणीकरण के लिए अनुमंडलीय अस्पताल बनमनखी का यूनिसेफ़ की राष्ट्रीय स्तर की टीम के द्वारा निरीक्षण किया गया। जिसमें स्वास्थ्य प्रमुख लुइगी डी एक्वीनो एवं पोषण विभाग के प्रमुख अर्जन डे वग्त के अलावा यूनिसेफ़ बिहार के स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ सिद्धार्थ शंकर रेड्डी, कार्यक्रम प्रबंधक शिवेंद्र पांड्या, पोषण अधिकारी रवि नारायण, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सरिता एवं रेखा शामिल थी। इस अवसर पर राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ नरेंद्र कुमार सिन्हा, क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक नजमूल होदा, जिला गुणवत्ता यक़ीन पदाधिकारी डॉ अनिल कुमार शर्मा, अनुमंडलीय अस्पताल बनमनखी के एमओआईसी डॉ प्रिंस कुमार सुमन, अस्पताल प्रबंधक अभिषेक कुमार, यूनिसेफ़ के सलाहकार शिव शेखर आनंद, मोअम्मर हाशमी, तनुज कौशिक, नंदन कुमार झा सहित कई अन्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

Advertisement

 

-बनमनखी अस्पताल के निरीक्षण के बाद संतुष्ट दिखी यूनिसेफ़ की टीम: आरपीएम
क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक नजमूल होदा ने बताया कि
वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में हर तरह की सुख सुविधाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ लगी हुई है। जिससे कि स्थानीय मरीज़ों को किसी तरह से कोई परेशानी नहीं हो। कोरोना संक्रमण काल में निजी चिकित्सक या निजी नर्सिंग होम संचालकों द्वारा इलाज़ नही करना या नर्सिंग होम को बंद कर देना आम बात सी हो गई थी। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक एवं जीएनएम, एएनएम अन्य स्वास्थ्य कर्मी दिन रात एक कर मरीज़ों की सेवा में लगे हुए थे। ज़िला मुख्यालय सहित सुदूर ग्रामीण इलाकों के सरकारी अस्पतालों में प्रसूता एवं नवजात शिशुओं को सुरक्षित प्रसव की सेवाएं उपलब्ध कराने को लेकर स्वास्थ्य विभाग हर समय प्रतिबद्ध रहता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा नई-नई तकनीक के माध्यम से मरीजों का परामर्श, उपचार, निःशुल्क दवा सहित कई अन्य प्रकार की सुख सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से यूनिसेफ़ की राष्ट्रीय स्तर की टीम के द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल बनमनखी का निरीक्षण किया गया है। निरिक्षीय टीम ने अस्पताल के निरीक्षण के बाद पूरी तरह से संतुष्ट दिखी।

 

-लक्ष्य योजना को लेकर तैयारियों में जुटा हुआ था अस्पताल प्रशासन: एमओआईसी
अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ प्रिंस कुमार सुमन ने बताया कि लक्ष्य योजना को लेकर यूनिसेफ़ की टीम द्वारा अस्पताल परिसर स्थित पीपीटी सेंटर, मॉडल नियमित टीकाकरण कॉर्नर, ब्लड स्टोरेज, प्रसव कक्ष, मैटरनिटी सेंटर, ऑपरेशन थियेटर, भवन का आउट डोर एवं इंडोर सहित अन्य विभागों का निरीक्षण किया गया है। रोगी का अधिकार, सपोर्ट सर्विसेज, क्लिनिकल सर्विसेज, इंफेक्शन कंट्रोल, क्वालिटी मैनेजमेंट के साथ ही इलाजरत मरीज़ों से बातचीत कर अस्पताल में मरीज़ों को किस तरह की सुविधाएं दी जा रही है इसके संबंध में जानकारी ली गई है। लक्ष्य प्रमाणीकरण को प्राप्त करने के लिए लगातार कई महीनों से तैयारियों में पूरा अस्पताल प्रशासन जुटा हुआ था। इसके लिए अस्पताल के प्रसव वार्ड को लक्ष्य कार्यक्रम के निर्धारित मानकों के अनुरूप विकसित किया गया है।
अस्पताल के कर्मियों से प्रसव कक्ष से जुड़ी पंजियों के संधारण एवं अद्यतन जानकारी लेने के बाद टीम वापस जिला मुख्यालय लौट गई।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
Translate »