Download App

जदयू कार्यालय में मनायी गई डॉ. अम्बेडकर की 67 वीं महापरिनिर्वाण दिवस

खगड़िया, बिहार दूत न्यूज।

Advertisement

जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा के निर्देश पर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत्त जिला जनता दल यूनाइटेड के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने बुधवार को जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल के नेतृत्व में जहां जदयू कार्यालय में भारतीय संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहब डॉ0 भीमराव अम्बेडकर की 67 वीं महापरिनिर्वाण दिवस के अवसर पर उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया और बाबा साहब के नाम का गगनभेदी जयकारे लगाये।


वहीं नेताओं ने जदयू कार्यालय से जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल के नेतृत्व में क्रमशः भारतीय संविधान का अपमान नहीं सहेंगे हिन्दुस्तान,नये संसद भवन में सावरकर का सम्मान डॉ0 अम्बेडकर का अपमान,एससी-एसटी का अपमान नहीं सहेंगे हिन्दुस्तान, पिछड़ा अतिपिछड़ा का अपमान नहीं सहेंगे हिन्दुस्तान,देश भर में जाति आधारित गणना कराना होगा कराना होगा,बाबू जगजीवन राम छात्रावास चालू करना होगा करना होगा,बाबू जगजीवन राम को भारत रत्न देना होगा देना होगा,केन्द्रीय बीजेपी सरकार होश में आओ, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा अतिपिछड़ा अल्पसंख्यक के साथ हकमारी करना बंद करो,भारतीय संविधान जिन्दाबाद,जनता दल (यू0)जिन्दाबाद एवं नीतीश कुमार जिन्दाबाद आदि गगनभेदी नारे के साथ शानदार संविधान बचाओ मार्च निकाला; जो कचहरी रोड- अम्बेडकर पथ, राजेन्द्र चौक एवं एम जी मार्ग होते हुए बलुआही स्थित अम्बेडकर भवन पहुंचे जहां बाबा साहब डॉ0 भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर बारी बारी से माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया ।
जिला अध्यक्ष बबलू कुमार मंडल ने अपने संबोधन में बाबा साहब को आधुनिक भारत के शिल्पकार बताते हुए कहा कि उन्होंने जो संविधान में देश के सभी वर्गों व धर्मों को अधिकार दिये हैं उस अधिकार के बल पर गरीब, वंचित, शोषित, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति,अतिपिछड़ा-पिछड़ा,अल्पसंख्यक, महिलाएं व छात्र- युवा सब आगे बढ़ रहे हैं।इन वर्गों को शैक्षणिक, सामाजिक व राजनीतिक पिछड़ेपन को दूर कर मुख्यधारा में लाने के लिए हमारे सर्वमान्य नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का भी अहम भूमिका रही है।संविधान प्रदत्त अधिकार के बल पर ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जाति आधारित गणना कराकर आरक्षण का दायरा बढ़ाये हैं जिसमें सबों की भलाई निहित है।लेकिन केंद्र की बीजेपी सरकार की रबैया बिल्कुल संविधान विरोधी और जाति आधारित गणना विरोधी रही है।यही कारण है कि केन्द्रीय बीजेपी सरकार देशभर में 10 वर्षीय जनगणना नहीं करा पायी है।महंगाई और वेरोजगारी चरम पर है।जुमले और जात धर्म के नाम पर देश वासियों को ठगा जा रहा है।उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव में जनविरोधी व संविधान विरोधी नरेन्द्र मोदी सरकार को जड़मुल से उखाड़ फेंकने का अपील किया।
मुख्य अतिथि जदयू के प्रदेश महासचिव सह खगड़िया संगठन प्रभारी अमर कुमार सिंह ने कहा कि बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के द्वारा रचित संविधान नहीं होता तो भाजपा की जो मानसिकता है उससे भारत का बेरा गर्क हो गया होता।इसलिए देश को आगे ले जाने के लिए संविधान को बचाने की जरूरत है।क्योंकि भाजपा के द्वारा संविधान में शामिल महत्वपूर्ण धारा और आमजनों के अधिकारों को बदलने की साजिश रची जा रही है।
उक्त कार्यक्रम में प्रदेश महासचिव साधना देवी सदा,नीलम वर्मा,पंकज कुमार पटेल,अशोक कुमार सिंह,चन्दन कश्यप,अजय मंडल,अनिल जयसवाल ,प्रवक्ता अरविन्द मोहन व आचार्य राकेश पासवान शास्त्री,उपाध्यक्ष राजकुमार फोगला,कोषाध्यक्ष संदीप केडिया,उमेश सिंह पटेल ,रामविलाश महतों,मो0 जीयाउल हक,अनिल कुमार सिंह,अविनाश पासवान,मो0शहाव उद्दीन,सावन कुमार बंटी,अभिनव कुमार,राकेश कुमार चौधरी,अनुज कुमार शर्मा,फिरदोस आलम,चन्देश्वरी राम,वीणा पासवान,कौशल सिंह,दिलीप पोद्दार, पंकज चौधरी,अंगद कुमार,डॉ0 धीरेन्द्र यादव,कमलकिशोर पटेल,प्रखण्ड अध्यक्ष रामप्रकाश सिंह, अशोक राय,अमरेन्द्र कुमार, जीतेन्द्र पटेल,पार्वती देवी,पंकज पासवान,सिद्धांत सिंह छोटू,नवनीत कुमार सिंह,जयजयराम कुमार,नीतीश कुमार सहित सैकड़ों की संख्या में जदयू के पदाधिकारी व कार्यकर्तागण शामिल थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer
Translate »
%d bloggers like this: